रामलला का भूमि शुद्धिकरण पूजन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील के चलते कार्यक्रम को अनिश्चित समय के लिए टाला गया है।

By: Hariom Dwivedi

Published: 21 Mar 2020, 06:06 PM IST

अयोध्या. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए रामलला के अस्थाई मंदिर की भूमि शुद्धिकरण पूजन को टाल दिया गया। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील के चलते कार्यक्रम को अनिश्चित समय के लिए टाला गया है। जनता कर्फ्यू के बाद देश की परिस्थिति को देखते हुए ट्रस्ट भूमि शुद्धिकरण का निर्णय लेगा। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट और विश्व हिंदू परिषद जनता कर्फ्यू का पालन करेगा। सूर्योदय से पहले व सूर्यास्त के बाद तक कोई भी घर से नहीं निकलेगा। उन्होंने कहा कि राम भक्तों को आत्म अनुशासन का पालन करना चाहिए। 22 मार्च को सभी रामभक्त घर में रहकर भजन-कीर्तन करें और भगवान से देशवासियों के स्वस्थ रहने की प्रार्थना करें।

अयोध्या जिला प्रशासन ने शनिवार को एडवाइजरी जारी करते हुए रामनवमी मेले पर अघोषित प्रतिबंध लगा दिया है। सरयू नदी में सामूहिक स्नान दो अप्रैल तक प्रतिबंधित कर दिया गया है। अयोध्या जनपद के सभी होटलों, धर्मशालाओं और लॉज में दो अप्रैल तक हर तरह की बुकिंग पर रोक लगा दी गई है। साथ ही बाहरी जिलों से आ रहे श्रद्धालुओं और दर्शनार्थियों को अयोध्या जनपद के बॉर्डर से ही वापस किया जा रहा है। जिला प्रशासन की ओर से जारी एडवायजरी में कहा गया है कि अयोध्या जनपद के समस्त मंदिर धार्मिक स्थलों पर कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव के लिए भीड़ इकट्ठा होना प्रतिबंधित रहेगा।

यह भी पढ़ें : कोरोना के चलते रामनवमी मेले पर अघोषित प्रतिबंध, गोवर्धन परिक्रमा भी रोकी गई, सरयू स्नान पर भी पाबंदी

Corona virus
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned