कोरोना मुक्त है अयोध्या नगरी फिर भी रहे सतर्क : ADG

अयोध्या के व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे लखनऊ जोन के पुलिस महानिदेशक एसएन साबत

By: Satya Prakash

Published: 18 Apr 2020, 09:57 PM IST

अयोध्या : उत्तर प्रदेश के कई जिलों को कोरोना संक्रमण मुक्त कर दिया गया है ऐसे में अब अयोध्या भी जल्द ही संक्रमण मुक्त नगरों में होगा जिसके लिए लगातार आला अधिकारी प्रयास में है तो वहीं हैं तो वहीं सूबे के अधिकारियोँ की भी निगाहें अयोध्या पर टिकी हुई है जिसको लेकर आज लखनऊ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक एसएन साबत अयोध्या पहुंच व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर सरकार की ओर से घोषित आपदा और लाक डाउन के बीच शनिवार को अयोध्या दौरे पर पहुंचे लखनऊ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक एसएन साबत ने कहा कि यद्यपि जिले में अभी तक कोई कोरोना पाजिटिव का मरीज नहीं पाया गया है लेकिन हमको बेफिक्र होने की जरूरत नहीं है। लाक डाउन का कड़ाई से अनुपालन कराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए विकास भवन में बनाए गए इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। निरीक्षण में व्यवस्थाएं दुरुस्त पाई गई। हालांकि अन्य जनपदों की व्यवस्थाओं के आधार पर कंट्रोल रूम को और बेहतर रूप प्रदान करने के लिए क्या नया और बेहतर किया जा सकता है? इस दिशा में कदम उठाया जाएगा। कहा कि कोई भी अगर कोरोना से ग्रसित होने की बात छुपाता है तो यह अपराध है। चाहे वह जमातियों की ओर से किया जाए या फिर अन्य किसी की ओर से। सभी के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जा रही है।जनपद दौरे पर पहुंचे एडीजी लखनऊ ने कोरोना को लेकर उपजे हालात के मद्देनजर जिला प्रशासन की ओर से विकास भवन में बनवाए गए इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। कंट्रोल रूम में विभिन्न विभागों के प्रभारियों से उनके विभाग से संबंधित सवाल जवाब किए। कंट्रोल रूम में ही एडीजी ने पुलिस महानिरीक्षक अयोध्या डॉ. संजीव गुप्ता, जिलाधिकारी अयोध्या अनुज कुमार झा,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अयोध्या आशीष तिवारी तथा अन्य अधिकारियों के साथ व्यवस्थाओं तथा कार्रवाई की समीक्षा की। सभी को लाक डाउन का कड़ाई से अनुपालन कराने की हिदायत दी।मीडिया से मुखातिब एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत ने कहा कि जिला प्रशासन की ओर से की गई व्यवस्थाएं दुरुस्त हैं। हालांकि इसमें और क्या बेहतर किया जा सकता है? इस बाबत कदम उठाए जाएंगे। जमातियों के बाबत उन्होंने कहा कि पता कर लिया गया है कि कौन-कौन जमात में शामिल होने गए थे और यह लोग किन किन जनपदों के रहने वाले हैं। दावा किया कि जमात में शामिल होने वाले सभी लोगों को क्वांट्राइन किया जा चुका है और इनकी दो-दो बार जांच कराई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि कोरोना के संबंध में जानकारी छुपाना अपराध है और आपदा अधिनियम तथा महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है। यह सभी लोगों पर लागू है कि वह कोरोना से ग्रसित होने अथवा कोरोना के संक्रमित से संपर्क में आने की बात छिपाए नहीं।नहीं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। हालांकि अगर किसी ने अनजाने में और बिना किसी विद्वेष के ऐसा किया है तो वह कानूनी अपराध नहीं है। ऐसे लोगों का जांच और उपचार कराया जाएगा। एडीजी ने कहा कि जनपद में अभी तक कोरोना से संक्रमित कोई मरीज नहीं पाया गया है लेकिन हमको बेफिक्र होने की जरूरत नहीं है। सरकार और शासन के निर्देशों का अक्षरश: अनुपालन कराते हुए लाकडाउन का कड़ाई से पालन कराया जाएगा। कृषि संबंधी कार्यों को छूट दी गई है। पुलिस और प्रशासन की कोशिश होनी चाहिए कि लोगों को लाकडाउन को लेकर दिक्कतें कम से कम हो और आवश्यक वस्तु दूध,सब्जी,फल,राशन तथा दवाओं की उपलब्धता और होम डिलीवरी सुनिश्चित की जाए।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned