फैसला आया राम के नाम,बढ़ गए जमीनों के दाम

राम मंदिर पर फैसले के साथ अयोध्या में जमीनों की मांग बढ़ी

अयोध्या : राम जन्मभूमि का विवाद समाप्त होने के बाद जमीनों के दाम बढ़ गए हैं। वह भी तब जब पूरे देश के प्रापर्टी बाजार में मंदी देखने को मिल रही है। अयोध्या के प्रापर्टी डीलरों की माने तो पिछले तीन महीने में ही अयोध्या के 14 कोसी परिक्रमा क्षेत्र में जमीनों के दाम 700 रुपए स्कवायर फुट से बढ़कर 1200 से 1500 रुपए पहुंच गया है।

राम जन्मभूमि मामले की उच्चतम न्यायालय में लगातार सुनवाई के साथ ही शुरू हो गया था। और जैसे-जैसे मामले पर फैसला आने की तारीखें घट रहीं थी वही अयोध्या में जमीन की कीमत हर दिन बढ़ रही। अयोध्या में मौजूदा हवाईपटटी को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के रूप में परिवर्तित किए जाने और सरयू सहित आसपास के क्षेत्र में विकास किए जाने योजना के साथ निजी कंपनियां भी अयोध्या में भी तेजी से निवेश करना चाहते हैं। यही कारण है कि अयोध्या क्षेत्र में जमीनों की कीमत दोगुनी हो गई है। विकास की गति इस विवाद के बाद कितनी थम गई थी। इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि पूरे अयोध्या जिले में एक भी स्टार होटल नहीं हैं। और विवाद समाप्त होने के बाद अब दिलचस्पी काफी बढ़ गई है।

अयोध्या के विकास को लेकर सरकार ने खाका तैयार कर लिया है, भूमि की कीमत पर उसका भी असर देखा जा रहा है। प्रापर्टी डीलर संदीप तिवारी बताते हैं कि एक तरफ सरकार अस्पताल, होटल, सीता झील और अन्य कार्य के लिए जमीन चिंहित कर रही है। जिससे अयोध्या को और सुंदर बनाया जा सके तो ठीक उसी के पीछे निजी क्षेत्र के लोग भी लगे जिससे उस विकसित क्षेत्र में वह जमीन खरीदकर अपने व्यवसाय को बेहतर तरीके से स्थापित कर सकें।

प्रापर्टी डीलर अजय सिंह कहते हैं कि विवाद ने ही अयोध्या के जमीन की कीमत घटाई थी और अब विवाद ही लोगों को आबाद कर रहा है। अयोध्या में करीबन 50 हजार लोग रोजाना पहले आते थे लेकिन अब विवाद खत्म हो गया है तो इसी साल यह संख्या करीबन एक लाख पार हो जाने की उम्मीद है। जिन्होंने विवाद को देखा है वह अब अयोध्या जरूर आना चाहते हैं। अयोध्या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी काफी जुड़ा हुआ है। ऐसे में होटल, गाइड, परिवहन, मनोरंजन सहित कई प्रकार की सुविधाओं की मांग काफी बढ़ जाएगी। और सभी के लिए जमीन पहला कदम हैं।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned