अयोध्या मामले में बड़ा अपडेट 17 नवम्बर से पहले राम मंदिर बाबरी मस्जिद केस में आ सकता है फैसला

अयोध्या मामले में बड़ा अपडेट 17 नवम्बर से पहले राम मंदिर बाबरी मस्जिद केस में आ सकता है फैसला
अयोध्या मामले में बड़ा अपडेट 17 नवम्बर से पहले राम मंदिर बाबरी मस्जिद केस में आ सकता है फैसला

Anoop Kumar | Updated: 17 Sep 2019, 05:39:57 PM (IST) Ayodhya, Ayodhya, Uttar Pradesh, India

खबर के मुख्य बिंदु -

- सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के 25 वें दिन चीफ जस्टिस के सवाल से बढ़ी उम्मीदें

- चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने पूछा बहस करने के लिए चाहिए और कितना वक्त

- चीफ जस्टिस ने कहा एक बार सभी पक्ष ये बता देते है कि वे कितना समय लेंगे तो हमें भी पता चल जाएगा कि फैसला लिखने के लिए कितना समय मिलेगा

- 17 नवम्बर को रिटायर हो रहे हैं चीफ जस्टिस रंजन गोगोई

अयोध्या : देश की सबसे बड़ी अदालत में चल रहे देश के सबसे बड़े मुकदमे अयोध्या के राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद की नियमित सुनवाई के बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है | 16 सितंबर को हुई सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने संकेत दिए हैं कि जल्द ही इस मुकदमे का फैसला आ सकता है | मंगलवार को सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने मुकदमे से जुड़े सभी पक्षों से यह पूछा कि वह अपनी बहस कितने दिनों में पूरी कर लेंगे | संविधान पीठ की अध्यक्षता कर रहे चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने यह भी कहा कि अगर सभी पक्ष यह बता दें कि वह कितना समय लेंगे तो हमें भी पता चल जाएगा कि फैसला लिखने के लिए कितना समय हमे मिलेगा बताते चलें कि 17 नवंबर को चीफ जस्टिस का सेवा काल पूरा हो रहा है ,ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है इससे पूर्व ही इस मुकदमे पर फैसला आ सकता है |

ये भी पढ़ें - बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी की बढ़ सकती हैं मुसीबतें ,वर्तिका सिंह की याचिका पर कोर्ट ने दिखाई सख्ती
25 वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से दी जा रही दलीलों के बीच चीफ जस्टिस ने सुन्नी बोर्ड की तरफ से पैरवी कर रहे अधिवक्ता राजीव धवन से पूछा कि आप कब तक अपनी बहस पूरी कर लेंगे | आपको बहस करने के लिए और कितना वक्त चाहिए ,सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यही सवाल हिंदू पक्ष से भी किया और पूछा कि मुस्लिम पक्ष द्वारा दी गई दलील पर अपना पक्ष रखने के लिए उन्हें कितना समय चाहिए | चीफ जस्टिस के सवाल पर सुन्नी वक्फ बोर्ड के अधिवक्ता राजीव धवन ने कहा कि मैं पूरी कोशिश करूंगा कि समय से बहस पूरी हो और इस मामले पर फैसला आए | मुकदमे की सुनवाई के दौरान संविधान पीठ के सदस्यों का रुख देख कर उम्मीद जताई जा रही है कि 17 नवम्बर से पहले अयोध्या मामले पर फैसला आ सकता है |

ये भी पढ़ें - बड़ी खबर : एक बार फिर समझौते की रांह पर चला मुस्लिम पक्ष,कहा ऐसे माहौल में मुकदमे की पैरवी संभव नहीं

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned