अदालतें बंद होने के कारण अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी अयोध्या में ढहाए ढांचे के मामले की सुनवाई

विवादित विधवंस ढांचा ढहाए जाने की आगे की सुनवाई अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी

By: Karishma Lalwani

Published: 16 May 2020, 11:43 AM IST

अयोध्या. विवादित विधवंस ढांचा ढहाए (Ayodhya Demolition Case) जाने की आगे की सुनवाई अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी। मुकदमे की सुनवाई 20 अप्रैल को संपन्न होनी थी। लेकिन लॉकडाउन के चलते तारीख बढ़ा दी गई। उच्चतम न्यायालय ने आठ मई को विशेष अदालत को 31 अगस्त तक कार्यवाही पूरी करने के निर्देश दिए हैं। लॉकडाउन के चलते अदालतें बंद होने के कारण अब बाकी की कार्यवाही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी। मामले की अगली सुनवाई 18 मई को होगी।

तीन गवाहों से जिरह करना चाहता है बचाव पक्ष

अदालत ने सीबीआई की ओर से पेश अभियोजन पक्ष के सभी गवाहों के बयान दर्ज कर लिये हैं। अब आरोपियों को यह सूचित किया जाना है कि उनके खिलाफ क्या साक्ष्य पेश हुए। इस बीच बचाव पक्ष ने शुक्रवार को अर्जी लगायी कि वह अभियोजन पक्ष के तीन गवाहों से जिरह करना चाहता है। अर्जी पर विशेष न्यायाधीश एस के यादव ने बचाव पक्ष से कहा कि वह सवालों की सूची सौंपे, जो वह अभियोजन पक्ष के गवाहों से करना चाहता है। बता दें कि अयोध्या पुलिस में दर्ज दो प्राथमिकी के परिप्रेक्ष्य में 1992 में विवादित ढांचा ढहाए जाने के संबंध में लखनऊ की अदालत में मुकदमा चल रहा है।

इनके नाम हैं शामिल

इस मामले में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, विहिप नेता चंपत राय बंसल और अन्य लोगों के नाम हैं।

ये भी पढ़ें: यूपी में एनपीआर पर लगा ब्रेक, अगले आदेश तक इससे जुड़े सभी काम रहेंगे स्थगित

Ram Mandir
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned