हनुमान जयंती पर अयोध्या में उमड़े श्रद्धालु 

 हनुमान जयंती पर अयोध्या में उमड़े श्रद्धालु 
Hanuman Gadi

रामनगरी अयोध्या के विभिन्न मंदिरों में हनुमान जयंती धूमधाम से मनायी जा रही है। हालांकि अयोध्या में हनुमान जयंती का पर्व कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी को मनाये जाने की परंपरा है।

आयोध्या. रामनगरी अयोध्या के विभिन्न मंदिरों में हनुमान जयंती धूमधाम से मनायी जा रही है। हालांकि अयोध्या में हनुमान जयंती का पर्व कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी को मनाये जाने की परंपरा है। बावजूद इसके अयोध्या स्थित महाराष्ट्रियन परंपरा व दक्षिण भारतीय परंपरा के कुछ मंदिरों में चैत्र शुक्ल पूर्णिमा को भी हनुमान जयंती मनाये जाने की परंपरा है। इसी परंपरा के तहत चैत्र शुक्ल पूर्णिमा को अयोध्या के विभिन्न मंदिरों कालेराम, जानकी महल सहित अन्य मंदिरों में हनुमान जयंती धूमधाम से मनायी गयी। महाराष्ट्रियन परंपरा के मंदिर कालेराम में हनुमान जयंती के साथ ही श्रीरामजन्मोत्सव का समापन हो गया यहां विगत 29 मार्च से ही विविध धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन संचालित था। चैत्र पूर्णिमा को प्रातः कालेराम भगवान एवं हनुमान जी महाराज का विधिवत पूजन,अर्चन,श्रृंगार आरती कर हनुमान जी महाराज का भव्य जन्मोत्सव मनाया गया।


जिस प्रकार उत्तर भारत में कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी को हनुमान जयंती मनायी जाती है, उसी प्रकार दक्षिण भारत में चैत्र शुक्ल पूर्णिमा को हनुमान जयंती मनाने की परंपरा है। कालेराम मंदिर के व्यवस्थाक श्रीयशवंत दिगम्बर देश पाण्डेय ने बताया कि सूर्योदय के समय हनुमान जी का जन्मोत्सव मनाने की परंपरा है। वे कहते हैं कि ‘राम दुआरे तुम रखवारे ’ हनुमान जी अयोध्या के राजा हैं। अयोध्या आने पर हनुमान जी का दर्शन नहीं करने से अयोध्या तीर्थाटन का फल नहीं मिलता है। प्रभु को पाने के लिए भी हनुमान जी को प्रसन्न करना जरूरी है। हनुमान की भक्ति के बिना राम की प्राप्ति नहीं हो सकती है।


वहीं दूसरी तरफ हनुमान जयंती के अवसर पर अयोध्या स्थित सिद्धपीठ हनुमानगढ़ी में भी श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। ब्रह्म मुहूर्त से ही लाखों की तादात में बजरंग बली के भक्त अयोध्या पहुंच चुके थे और पवित्र सरयू नदी में स्नान के बाद हनुमान गढ़ी सिध्ध्पीठ में दर्शनों के लिए कतार लग गयी| अचानक उमड़ी भीड़ से यातायात व्यवस्था चरमरा गयी। आनन-फानन में प्रशासन ने श्रीरामअस्पताल से नयाघाट तक बड़े वाहनों का प्रवेश बंद कराया, हालांकि भीड़ नियंत्रित करने में प्रशासन के पसीने छूट गये। ब्रह्ममुहूर्त से ही हनुमानगढ़ी में दर्शनार्थ भक्तों का रेला उमड़ पड़ा, दर्शन पूजन का यह सिलसिला देर शाम तक जारी रहेगा ।⁠⁠⁠ 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned