तकलीफ़ : बहुत कठिन है डगर रामलला के दर्शनों की देनी पड़ती है अग्नि परीक्षा

रामलला के दर्शन मार्ग में नहीं है कोई व्यवस्था कड़ी धूप में श्रद्धालुओं के पाँव में पड़ जाते हैं छाले

By: अनूप कुमार

Published: 24 May 2018, 11:12 AM IST

अयोध्या : मई के महीने में पूरे प्रदेश में भीषण गर्मी का प्रकोप है ,दोपहर के 11:00 बजे से लेकर 4:00 बजे तक पारा 42 डिग्री के पार हो जाता है . इस भीषण गर्मी में जहां घर के अंदर भी लोगों को चैन नहीं है वही जरा गौर कीजिए कि अगर आपको घर के बाहर कड़ी धूप में नंगे पांव आधे घंटे खड़ा होना पड़े तो आप पर क्या गुजरेगी . लेकिन यह सिर्फ कोरी कल्पना नहीं बल्कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की पावन नगरी अयोध्या में अपने आराध्य भगवान राम लला के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की कड़ी परीक्षा है जिससे श्रद्धालु रोज दो चार होते हैं . आलम यह है कि अयोध्या में राम जन्म भूमि दर्शन मार्ग पर कड़ी धूप में कतार में खड़े श्रद्धालुओं को काफी देर तक सुरक्षा कारणों के चलते खड़ा रहना पड़ता है . इस दौरान पूरे मार्ग में कहीं छाया या पेयजल की व्यवस्था नहीं है जिसके कारण सबसे ज्यादा समस्या वृद्ध श्रद्धालुओं और छोटे बच्चों को हो रही है और यह समस्या नई नहीं बल्कि पुरानी है . कोलकाता से आए श्रद्धालु सुप्रतिम बोस और उनकी पत्नी के साथ उनके माता-पिता भी रामलला का दर्शन करने आए हैं .लेकिन बीते आधे घंटे से भीड़ ज्यादा होने के कारण कड़ी धूप में वह कतार में लगे हैं .

रामलला के दर्शन मार्ग में नहीं है कोई व्यवस्था कड़ी धूप में श्रद्धालुओं के पाँव में पड़ जाते हैं छाले

सुरक्षाकर्मी श्रद्धालुओं की जांच कर रहे हैं जिसके कारण दर्शन मार्ग में रामलला के दर्शन हो तक पहुंचने से पूर्व ही करीब आधे घंटे से अधिक समय तक कड़ी धूप में समय गुजारना पड़ता है . वही गोरखपुर से आए ललित गुप्ता का कहना है अयोध्या में भगवान राम लला के दर्शनों के लिए देश के कोने-कोने से श्रद्धालु आते हैं इसके लिए जिम्मेदार प्रशासन को व्यवस्था देनी चाहिए कम से कम मार्ग में छाया की व्यवस्था और शुद्ध पेयजल की व्यवस्था हो जिससे श्रद्धालुओं को दिक्कत ना हो . मध्य प्रदेश से अयोध्या पहुंचे श्रद्धालु अरविंद कुमार ने बताया कि तेज धूप के बीच किसी तरह वह सरयू स्नान तो कर आये ,फिर रामलला का दर्शन करना चाहते थे लेकिन लंबी लाइन और कड़ी धूप के कारण हिम्मत नहीं हुई और दूर से ही भगवान को प्रणाम कर वापस जा रहे हैं . यह समस्या उन श्रद्धालुओं ने बताई जिनसे हमारी टीम ने बात की हजारों श्रद्धालु ऐसे हैं जो इस मौसम में अपनी आस्था और श्रद्धा के कारण तमाम तकलीफों को झेलते हुए रामलला का दर्शन करते हैं और व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए लौट जाते हैं . बताते चलें कि पूर्व में भी सामाजिक संगठनों ने इस समस्या के प्रति स्थानीय प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया था लेकिन अभी तक इस समस्या का कोई हल नहीं हो सका है और रामलला के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं को बहुत कष्ट झेलना पड़ता है और उनके पाँव में छाले पड़ जाते हैं .

Show More
अनूप कुमार Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned