हत्या का आरोप लगने के बाद मीडिया के सामने आये भाजपा विधायक ने किया बड़ा खुलासा

एक ठेकदार की मौत के बाद जिले की सियासत में आ गया था भूचाल भाजपा विधायक बनाये गए हैं आरोपी

By: अनूप कुमार

Published: 10 Jan 2019, 03:48 PM IST


अयोध्या : एक प्रधान पुत्र और पेशे से ठेकेदार की हत्या के मामले में नामजद भाजपा विधायक खब्बू तिवारी को शुरूआती पुलिस जांच में राहत मिलने के बाद मीडिया से मुखातिब गोसाईगंज से भाजपा विधायक इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ़ खब्बू तिवारी ने कहा कि उन्हें राजनीतिक षड्यंत्र के तहत फसाया गया। जिन सपा के पूर्व विधायक को जनता नकार चुकी थी उन्ही गोसाईगंज के पूर्व विधायक ने राजनीतिक षड्यंत्र के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कराया ,जबकि प्रधान पुत्र ठेकेदार अजय प्रताप सिंह ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या की थी और इस मामले में पुलिस खुलासा कर चुकी है। भाजपा विधायक ने यह भी कहा कि उन्हें प्रधान पुत्र ठेकेदार अजय प्रताप सिंह की मौत का अफसोस है। गोसाईगंज विधानसभा का विधायक होने के नाते विधानसभा का हर परिवार मेरा परिवार है।

एक ठेकदार की मौत के बाद जिले की सियासत में आ गया था भूचाल भाजपा विधायक बनाये गए हैं आरोपी

भाजपा के विधायक खब्बू तिवारी ने कहा कि उन्हें तो घटना के बारे में जानकारी ही नहीं थी जिस दिन यह घटना घटी उस दिन वह उन्नाव में मंत्री बृजेश पाठक के कार्यक्रम में मौजूद थे | बृजेश पाठक के घर में तेरहवीं का कार्यक्रम था और उस कार्यक्रम में गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।अयोध्या पुलिस द्वारा क्लीनचिट मिलने के बाद हजारों समर्थकों के साथ सर्किट हाउस पहुंचे भाजपा विधायक खब्बू तिवारी का जोरदार स्वागत किया गया।उनके साथ रुदौली विधायक रामचंद्र यादव मिल्कीपुर विधायक बाबा गोरखनाथ नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय और भाजपा जिला अध्यक्ष अवधेश पांडे भी मौजूद रहे। दरअसल 22 दिसंबर को प्रधान पुत्र ठेकेदार अजय प्रताप सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी जिसको लेकर सपा के पूर्व विधायक अभय सिंह व मृतक के परिजनों ने भाजपा विधायक खब्बू तिवारी पर हत्या का आरोप लगाया था लेकिन मौके से मिले साक्ष्य व फॉरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद यह साबित हो गया कि उसकी हत्या नहीं बल्कि उसने आत्महत्या की थी।

Show More
अनूप कुमार Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned