भूमि पूजन के लिए पीएम मोदी सहित इन 200 हस्तियों को न्यौता, तैयार हो रही लिस्ट

- तैयारियों का जायजा लेने स्वतंत्रदेव सिंह पहुंचे कारसेवकपुरम

-10 करोड़ दानदाताओं के घर पहुंचेगा रामलला का प्रसाद, तैयार हो रही सूची

- राम मंदिर की जानें खासियत

लखनऊ. श्रीराम मंदिर भूमि पूजन के लिए पांच अगस्त की तारीख तय हुई है। देश के प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार नरेंद्र मोदी अयोध्या आएंगे। भूमि पूजन में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास लगभग 40 किलो चांदी की श्रीराम शिला समर्पित करेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी इस शिला का पूजन करेंगे और इसे स्थापित करेंगे। पांच अगस्त को सुबह 8 बजे पूजा पाठ की शुरुआत हो जाएगी। पीएम मोदी सुबह 11 बजे अयोध्या पहुंच सकते हैं और वह वहां लगभग चार घंटों तक रहेंगे। जानकारी के मुताबिक राम मंदिर ? के भूमि पूजन कार्यक्रम में PM मोदी के अलावा आरएसएस के सर संघचालक मोहन भागवत, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित करीब दो सौ हस्तियां शामिल हो सकती हैं। कार्यक्रम के लिए लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को भी आमंत्रित किया जाएगा।

इन 200 हस्तियों को बुलावा

महंत नृत्य गोपाल ने बताया कि राम मंदिर के शिलान्यास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ देश के कई राजनीतिक और धार्मिक हस्तियों को कार्यक्रम में बुलावा भेजा जा रहा है। कार्यक्रम में जहां मंदिर आंदोलन के वाहकों में शुमार रहे लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी की पीढ़ी के शीर्ष नेताओं को जुटाने की तैयारी है, वहीं विपक्ष के भी ऐसे नेताओं को आमंत्रित करने का विचार किया जा रहा है, जो कभी राममंदिर के विरोध में बहुत मुखर नहीं रहे। संघ के सर संघचालक मोहन भागवत, गृहमंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह सहित करीब 200 प्रमुख हस्तियां अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगी। इस मौके पर कल्याण सिंह, उमा भारती समेत राम मंदिर आंदोलन को धार देने वाले नेताओ को भी बुलावा भेजा जा रहा है।

स्वतंत्र देव सिंह पहुंचे अयोध्या

राम मंदिर निर्माण के लिए पीएम मोदी के अयोध्या आगमन को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई हैं। सरकारी महकमे के साथी श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट भूमि पूजन व मंदिर निर्माण की तैयारी कर रहा है। तो वहीं भारतीय जनता पार्टी भी मंदिर निर्माण में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए रणनीति तैयार करने में जुटी है। जिसको लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सोमवार को कारसेवक पुरम में ट्रस्ट व विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय पदाधिकारियों से मुलाकात की। इस दौरान बंद कमरे में घंटो वार्तालाप के बाद उन्होंने अयोध्या के संतों से भी मुलाकात की, लेकिन इस दौरान मीडिया से दूरी बनाए रखी।

10 करोड़ दानदाताओं के घर पहुंचेगा रामलला का प्रसाद

वहीं दूसरी ओर मंदिर के निर्माण प्रक्रिया में आम सहभागिता व लोगों का सीधा जुड़ाव हो सके इसलिए दान करने वाले राम भक्तों को ट्रस्ट की ओर से धन्यवाद पत्र रसीद व रामलला का प्रसाद भेजा जाएगा। कुछ दिन पहले से ही इसकी तैयारी हो रही है। बैंक से दानदाताओं के नाम पते एकत्र किए जा रहे हैं। ट्रस्ट के सचिव चंपतराय की देखरेख में ही यह योजना बनी है। ट्रस्ट कार्यालय में दानदाताओं का पता सूचीबद्ध किया जा रहा है। इसमें धन्यवाद पत्र व रसीद के अतिरिक्त छोटे पैक में रामलला का प्रसाद पैक कराया गया है। इत सामग्री को दानदाताओं के घर भेजा जाएगा।

राम मंदिर की खासियत

- मंदिर की लंबाई 268 फीट, चौड़ाई 140 फीट और ऊंचाई 161 फीट होगी
- मंदिर में 212 खंभे होंगे,
- पहली मंज़िल में 106 खंभे और दूसरी मंज़िल में 106 खंभे होंगे
- हर खंभे में 16 मूर्तियां होंगी
- मंदिर में दो चबूतरे होंगे.
- 45 एकड़ में रामकथा कुंज बनेगा
- भूतल में सिंहद्वार, गर्भगृह, नृत्यद्वार, रंगमंडप बनेगा
- प्रथम तल पर राम दरबार की लगेंगी मूर्तियां
- मंदिर में 24 दरवाजों का चौखट होगा

PM Narendra Modi Ram Mandir
Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned