राम मंदिर निर्माण के अहम किरदार त्रिलोकी नाथ पांडेय का निधन

भगवान श्री रामलला के पक्ष से 28वर्षों तक मुकदमा लड़ते रहे त्रिलोकी नाथ पांडेय, बीमारी के चलते हुए निधन

By: Satya Prakash

Published: 25 Sep 2021, 09:48 AM IST

अयोध्या। राममंदिर आंदोलन के सक्रिय भूमिका निभाने के साथ ही रामलला के सखा के रूप में मुकदमा लड़ने वाले त्रिलोकी नाथ पांडेय का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। उक्त जानकारी देते हुये विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय प्रवक्ता शरद शर्मा ने बताया कि त्रिलोकी नाथ पांडेय काफी समय से अस्वस्थ चल रहे थे, लेकिन इस बीच उनकी स्थिति और गंभीर हो गई थी, जिसके बाद उन्हें लखनऊ के राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने देर शाम अंतिम सांस ली। त्रिलोकी नाथ पांडेय की निधन की खबर मिलते ही कारसेवकपुरम में शोक की लहर दौड़ गई।

रामलला के पक्षकार होने के कारण कोर्ट ने बताया था रामसखा

त्रिलोकी नाथ पांडेय मूलतः बलिया के रहने वाले है। और राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई थी, इसके अलावा उन्होंने 1979 में विश्व हिंदू परिषद में सक्रिय संगठन मंत्री के रूप में कार्य किया। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व वह बलिया में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक रहे, इसके अलावा अन्य क्षेत्रों में भी सक्रिय रहे। उन्होंने बताया कि त्रिलोकी नाथ पांडेय ने राममंदिर आंदोलन के दौरान सक्रिय रहे, वहीं दूसरी ओर उन्होंने विराजमान रामलला के सखा के तौर ओर 28 वर्षों तक मुकदमा भी लड़ते रहे । और 2019 में श्री रामलला के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला भी सुनाया। और आज भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है।

गृह जनपद में होगा अंतिम संस्कार

लखनऊ के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में त्रिलोकी नाथ पांडेय के निधन के बाद उनका पार्थिव देर रात्रि लगभग 1 बजे रात्रि अयोध्या में विहिप मुख्यालय कारसेवकपुरम पहुंचा. जहां मौके पर मौजूद विश्व हिन्दू परिषद के पदाधिकारी व श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों ने श्रद्धांजलि दी। जिसके बाद उनके अंतिम संस्कार के लिए गृह जनपद बलिया के सुबह लगभग 3.30 पर रवाना हुआ।

Ram Mandir
Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned