राम नगरी में बढ़ी पर्यटकों की संख्या, आकर्षण का कारण बने ये प्रस्ताव

- अयोध्या में हढ़ी पर्यटकों की संख्या

- पर्यटकों को लुभा रहे अयोध्या के विकास कार्य

By: Karishma Lalwani

Published: 07 Mar 2020, 03:04 PM IST

अयोध्या. उत्तर प्रदेश के छोटे शहरों में पिछले कुछ सालों में पर्यटकों की रुची बढ़ी है। यूपी के बदले माहौल में पर्यटकों का आना बढ़ा तो निवेशकों ने भी दिलचस्पी दिखाना शुरू कर दिया। भगवान राम के जन्मस्थान से प्रसिद्ध अयोध्या (Ayodhya) इसका उदाहरण है। मार्च, 2017 में उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ न केवल नियमित अयोध्या आये बल्कि बीते ढाई वर्ष में इस धार्मिक नगरी के विकास के लिए 2,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की योजनाओं की घोषणा कर चुके हैं। अयोध्या के विकास को अपने एजेंडे में शामिल करने के बाद न केवल अयोध्या में पर्यटन को बढ़ावा मिला बल्कि निवेशकों ने भी राम नगरी में रुचि दिखाना शुरू कर दिया। लिहाजा बीते पांच साल में पर्यटकों की संख्या में करीब 30 प्रतिशत इजाफा हुआ है।

अयोध्या में आकर्षण का कारण बने ये प्रस्ताव

अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir) का मुद्दा सबसे प्रमुख रहा। अब मंदिर निर्माण के दिन ज्यादा दूर नहीं हैं लेकिन अयोध्या में पर्यटकों को लुभाने के लिए रां मंदिर फैसले से पहले ही योगी सरकार ने भगवान राम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा स्थापित करने की घोषणा कर दी थी। अब पर्यटकों की भीड़ बढ़ाने के मद्देनजर राम की पैड़ी का विस्तार किया जाना है। राम की पैड़ी की लंबाई 450 फुट और बढ़कर नया घाट के सामने हनुमानगढ़ी रोड से लेकर चौधरी चरण सिंह घाट तक होगी। राम की पैड़ी सहित अन्य प्रमुख घाटों का सुंदरीकरण, अयोध्या में हवाई अड्डे की स्थापना, पर्यटकों के लिए उच्चस्तरीय सुविधाएं उपलब्ध कराने, तुलसी स्मारक भवन के सुंदरीकरण और इंटरनेशनल रामकथा म्यूजियम एंड आर्ट गैलरी के निर्माण आदि के प्रस्तावों ने अयोध्या के आकर्षण को बढ़ाया है।

इश्वाकपुरी बसाने की तैयारी

पर्यटन को और बढ़ावा देने के लिए अयोध्या में कंबोडिया के अंकोरवाट की तरह इश्वाकपुरी बसाने की तैयारी है। इस नए आध्यत्मिक सांस्कृतिक शहर का एक किनारा अयोध्या का पौराणिक गुप्तार घाट होगा। गुप्तार घाट पर रामजन्मभूमि तक 1800 एकड़ से ज्यादा भूमि पर इश्वाकपुरी इको और ग्रीन सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके आकर्षण में चार चांद लगाने के लिए गुप्तार घाट से रामजन्मभूमि तक रिवर फ्रंट कुूछ इस तरह बनाया जाएगा कि यहां से राम मंदिर सीधा दिखाई दे। यह नई बसने वाली नगरी शहर में पर्यटन को प्रभावित करेगी।

पांच साल में बढ़ी पर्यटकों की संख्या

वर्ष पर्यटकों की संख्या

2015 - 15451635

2016 - 15503435

2017 - 17573759

2018 - 19244614

2019 - 20149392

ये भी पढ़ें: एकाएक तैयार हुए मस्जिद और मदरसों पर योगी सरकार अलर्ट, टेरर फंडिंग की आशंका में रखी जा रही खुफिया नजर

Ram Mandir
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned