Ayodhya Masjid : मस्जिद की नींव के लिए चांदी की पहली ईंट देंगे काशी के संत, आपसी सौहार्द की अपील

- ट्रस्ट की बैठक में तय होगा मस्जिद का मॉडल
- चंदा के लिए बैंक खाता खोलेगा सुन्नी वक्फ बोर्ड

By: Hariom Dwivedi

Updated: 13 Aug 2020, 04:42 PM IST

वाराणसी. अयोध्या में राम मंदिर भूमिपूजन के बाद अब मस्जिद निर्माण की कवायद तेज हो गई है। सुन्नी वक्फ बोर्ड ने मस्जिद निर्माण के लिए 'इण्डो इस्लामिक कल्चरल फाउण्डेशन ट्रस्ट' का गठन हो चुका है। लखनऊ के बर्लिंगटन में मस्जिद ट्रस्ट का नया कार्यालय भी ले लिया गया है। जहां जल्द ही ट्रस्ट की बैठक होगी। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरह सुन्नी वक्फ बोर्ड भी मस्जिद निर्माण के लिए खाता खोलने की तैयारी कर रहा है। इस बीच निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी अशुतोषानंद गिरि ने गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल देते हुए कहा कि अयोध्या में बनने वाली मस्जिद की नींव रखने के लिए वह पहली चांदी की ईंट भेंट में देंगे।

निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर ने प्रेसवार्ता में कहा कि अयोध्या में जिस तरह निर्विवाद और सबके सहयोग से भगवान राम का मंदिर बन रहा है, वैसे ही मस्जिद का भी जल्द निर्माण होना चाहिए। ताकि, अयोध्या से पूरी दुनिया में आपसी सौहार्द का संदेश जाए। संत समाज की यही कामना है। उन्होंने कहा कि 5 एकड़ जमीन पर हिंदू और मुसलमान मिलकर भव्य मस्जिद का निर्माण करें तो केवल मस्जिद नहीं बनेगी, दिल बनेगा, प्रेम बनेगा और प्रेम बढ़ेगा। महामंडलेश्वर ने अपील करते हुए कहा कि जिस तरह गुरुद्वारों में हिंदू समाज के लोग जाते हैं, वैसे ही अयोध्या में लोग रामलला के दर्शन के बाद मस्जिद जरूर जाएं।

मस्जिद निर्माण के लिए खाता खोलने की तैयारी में सुन्नी वक्फ बोर्ड
सुन्नी वक्फ बोर्ड ने भी फैसला लिया है कि अयोध्या में मस्जिद, अस्पताल और इंडो इस्लामिक कल्चरल सेंटर के लिए वह चंदा मांगेगा। इसके लिए बोर्ड कुछ ही दिनों में दो खाता खोलने की तैयारी में है। इनमें से एक बैंक खाता मस्जिद निर्माण के लिए धन जुटाने के लिए होगा और दूसरा खाता अस्पताल और रिसर्च सेंटर के लिए धन जमा करने के लिए होगा। चंदे का सारा पैसा ऑनलाइन रखा जाएगा। इसके लिए एक पोर्टल बनवाया जाएगा। इस काम के लिए कंपनी भी तय की जा चुकी है। उम्मीद है कि 25 अगस्त तक दोनों खाते खुल जाएंगे।

यह भी पढ़ें : कैसा होगा अयोध्या में बनने वाली मस्जिद का मॉडल, ट्रस्ट की बैठक में होगा अंतिम निर्णय

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned