महंत का रविशंकर पर कटाक्ष - आपकी हद के बाहर है राम मंदिर निर्माण, मौज मस्ती करें

महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण में आपसी समझौते के लिए मुख्य मुद्दई का होना जरूरी है।

By: Laxmi Narayan

Updated: 12 Nov 2017, 12:53 PM IST

अयोध्या. राम जन्म भूमि मंदिर निर्माण वार्ता के लिए आखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरि अयोध्या पहुंचे जहां हनुमानगढ़ी में बजरंगबली का दर्शन कर संतों से मुलाकात की। इसके साथ ही पक्षकार धर्मदास से भी की। मुलाकात के बाद पत्रकारों से बात करते हुए महंत नरेंद्र गिरि ने बताया कि रामजन्मभूमि मंदिर निर्माण की उम्मीद अब सबको है। हम संतों व सभी लोगों को मिलकर इसका रास्ता निकालना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी भी हमारे साथ है और विश्व हिंदू परिषद भी जल्द ही हमारे साथ होगी।

उन्होंने बताया कि वर्षों से कई लोगों द्वारा चल रहे वार्ता का कोई मतलब नहीं रहा। अब मुद्दा सही व्यक्ति के हाथ आया है। राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण में आपसी समझौते के लिए मुख्य मुद्दई का होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि यदि हाशिम अंसारी जिंदा होते तो पहले ही समर्थन मिल जाता। श्री श्री रविशंकर द्वारा किए गए बयान पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि रविशंकर कोई संत नहीं जो कि उनकी बात लोग मानें। रविशंकर एक एनजीओ चलाते हैं और मौज मस्ती करें। वे बिना मतलब रामजन्मभूमि समझौते में पड़े हैं। राम मंदिर निर्माण उनकी हद के बाहर है। वे मीडिया में आने के लिए इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं।

महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि ऐसे लोग बहुत ही कलाकार होते हैं। उनका सिर्फ यही मुख्य मकसद होता है कि अपनी ओर ध्यान खींचा जाये। राम जन्म भूमि मंदिर निर्माण के लिए सभी को साथ होकर एक मुहिम के साथ होना चाहिए तभी मंदिर निर्माण होगा। अयोध्या समझौते को लेकर आज अयोध्या के पक्षकारो से राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण जल्द शुरू होने को लेकर बात करेंगे और राम जन्म अयोध्या में हुआ यह सभी जानते है। यदि मस्जिद बनाना हो तो अयोध्या से दूर ही कहीं मस्जिद बनेगी।

यह भी पढ़ें - यूपी में किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए बना कृषक समृद्धि आयोग

Show More
Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned