scriptMahant Paramhans Das wrote a letter to PM Modi | पूजा स्थल अधिनियम 1991 कानून में संसोधन के लिए परमहंस दास ने पीएम मोदी लिखा पत्र | Patrika News

पूजा स्थल अधिनियम 1991 कानून में संसोधन के लिए परमहंस दास ने पीएम मोदी लिखा पत्र

तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने कहा मुगलों की मानसिकताओं पर चलने वाली कांग्रेस के द्वारा बनाई गई कानून जनहित में नही

अयोध्या

Published: May 21, 2022 04:04:16 pm

अयोध्या. ज्ञानवापी मस्जिद विवाद के बीच अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूजा स्थल कानून धारा 1991 को समाप्त करने के लिए पत्र लिखा है। परमहंस दास का आरोप है कि यह कानून उस समय बनाया गया था जब कांग्रेस सत्ता में थी। इसलिए इसे तत्काल समाप्त कर जनता के हितों में होने वाले कानून को बनाये जाए।
पूजा स्थल अधिनियम 1991 कानून में संसोधन के लिए परमहंस दास ने पीएम मोदी लिखा पत्र
पूजा स्थल अधिनियम 1991 कानून में संसोधन के लिए परमहंस दास ने पीएम मोदी लिखा पत्र
अंग्रेजों के भी समय काल में बने कानूनों में हो बदलाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे गए पत्र की जानकारी देते हुए तपस्वी छावनी के महंत परामहंस दास ने कहा कि कांग्रेस के समय में पूजा स्थल अधिनियम 1991 बना था उसको समाप्त करने के लिए आज धन्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भेजा है और हमने अमान किया कि इस अधिनियम को तत्काल समाप्त किया जाए इसके साथ ही अंग्रेजो के द्वारा भी बनाए गए कानून को समाप्त करके और जनता का ध्यान रखते हुए राष्ट्रहित का ध्यान रखते हुए जनसंख्या कानून समान नागरिक संहिता गौ रक्षा जैसे कानूनों को बनाने की आवश्यकता है क्योंकि जिस प्रकार से आबादी बढ़ रही है या देश के लिए घातक और चिंताजनक है इसलिए जनसंख्या नियंत्रण कानून भी जल्द से जल्द बनना चाहिए समान नागरिक संहिता भी जल्द ही लागू हो सो गई कहां की पूर्व में एक बार कांग्रेस ने गौ रक्षा को लेकर गोलियां चलवा दी थी। इसलिए अब आवश्यक है कि एक बार फिर से संविधान में संशोधन किया जाए।
देश में लागू हो जनसंख्या नियंत्रण, सामान नागरिक संहिता और गौ रक्षा कानून

वही बताया कि 1991 अधिनियम के संविधान की बदलाव को लेकर बताया कि जो मानसिकता मुगलों की रही है वहीं मानसिकता कांग्रेस की भी रही है और कांग्रेस भी कहीं ना कहीं से भारतीय संस्कृति पर कुठाराघात करती रही है। कांग्रेस इस तरह का ही बर्ताव करता रहा है। यह कानून 1991 अधिनियम बनाया गया था 1947 के पहले जो धर्म स्थल जैसे हैं वह यथावत रहेंगे। इसलिए यह आवश्यक है जिनको आक्रांताओं और आतंकवादियों के द्वारा ऐतिहासिक धर्म स्थलों को तोड़ा गया था और यदि जांच होने के बाद यह साबित होता है कि यह धर्म स्थल किसका है तो यह जो बीच में ब्रेकर आ रहा है पूजा अस्थल अधिनियम 1991 इस को तत्काल हटाने की आवश्यकता है

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: उद्धव ठाकरे को फिर लगा तगड़ा झटका, अब ठाणे नगर निगम के 67 में से 66 पार्षद शिंदे खेमे में हुए शामिलउदयपुर के बाद अब करौली में बवाल, दो समुदायों ने एक दूसरे पर कर दिया हमला, बाजार बंद, भारी पुलिस तैनातBhagwant Mann Marriage Live Updates: भगवंत मान की दुल्हन बनी गुरप्रीत कौर, सामने आई शादी की तस्वीरED के एक्शन से घबराए Vivo निदेशक देश छोड़कर भागे, जांच से तिलमिलाया चीनआजम खान का अजीबोगरीब बयान, ईडी बुलाए या सीडी, जाएंगे पर कुछ नहीं बताएंगेKaali Poster Controversy: फिल्म मेकर लीना ने छेड़ा नया विवाद, अब 'शिव-पार्वती' को सिगरेट पीते दिखायामैं ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती...' देवी मां काली विवाद पर महुआ मोइत्रा का ट्वीट- दर्ज कर लो FIR, अदालत में मिलूंगीMaharashtra News: महाराष्ट्र में कोरोना के सब वैरिएंट BA.4 और BA.5 मामले बढ़ने के बाद एक्शन मोड़ में प्रशासन, पुणे में 9 और अस्पताल शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.