script प्राण प्रतिष्ठा के दौरान व्यक्ति को आया हार्ट- अटैक, एयरफोर्स ने बचाई जान | Man suffered heart attack during Pran Pratistha Air Force saved | Patrika News

प्राण प्रतिष्ठा के दौरान व्यक्ति को आया हार्ट- अटैक, एयरफोर्स ने बचाई जान

locationअयोध्याPublished: Jan 22, 2024 07:12:21 pm

Submitted by:

Anand Shukla

अयोध्या में रामलला की प्राण- प्रतिष्ठा के दौरान के व्यक्ति को हार्ट- अटैक आ गया और जमीन पर बेहोश होकर गिर गया। जैसे ही भारतीय वायु सेना यानी आईएएफ की टीम ने व्यक्ति को गिरता हुआ देखा तो तुरंत ही मोबाइल अस्पताल में भर्ती कराया, जहां पर इलाज के बाद व्यक्ति की जान बच गई। मरीज की हालत स्थिर होने पर उसे आगे की निगरानी और विशेष देखभाल के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया।

hart_attack_during_pran_pratishtha.jpg
प्राण- प्रतिष्ठा के दौरान राम मंदिर के ऊपर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की गई।
अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन और रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम सोमवार को 84 सेकेंड्स के शुभ मूहुर्त में किया गया। प्राण प्रतिष्ठा के दौरान ही एक व्यक्ति को हार्ट अटैक आ गया। इसके बाद वहां पर मौजूद भारतीय वायु सेना यानी आईएएफ की टीम ने व्यक्ति को मोबाइल अस्पताल में ले गई, जहां पर डॉक्टरों की टीम ने उन्हें त्वरित इलाज दिया। इससे उनकी जान बच गई।
हालांकि, जब मरीज की हालत स्थिर हो गई, तब उसे आगे की निगरानी और विशेष देखभाल के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया। 

प्राण- प्रतिष्ठा के दौरान बनाया गया था मोबाइल अस्पताल
बताया जा रहा है कि रामकृष्ण श्रीवास्तव (65) के मंदिर परिसर के अंदर प्राण- प्रतिष्ठा का कार्यक्रम देख रही थी। इसी बीच भीड़ के अंदर ही उन्हें हार्ट अटैक आ गया और वह जमीन पर गिर पड़े। वहां पर मौजूद आईएएफ की टीम ने 1 मिनट के अंदर ही भीड़ से बाहर निकाला और आरोग्य मैत्री प्रोजेक्ट के तहत मोबाइल अस्पताल में ले गई। जहां पर डॉक्टरों की टीम ने त्वरित करवाई तरते हुए इलाज किया। इससे उसकी जान बच गई। श्रीवास्तव को उच्च रक्तचाप की बीमारी थी। जब उनको दिल का दौरा पड़ा तब उनका रक्तचाप करीब 210/170 पाया गया।
पीएम मोदी ने प्रोजेक्ट आरोग्य मैत्री की थी शुरुआत
आपको बता दें कि अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के मौके पर प्रोजेक्ट आरोग्य मैत्री के तहत अत्याधुनिक मोबाइल अस्पताल की व्यवस्था की गई थी। पीएम मोदी ने प्रोजेक्ट आरोग्य मैत्री की शुरुआत की थी। इस प्रोजेक्ट में एक मिनी- आईसीयू, एक ऑपरेशन थिएटर, खाना पकाने का स्टेशन, भोजन, पानी, एक बिजली जनरेटर, रक्त परीक्षण उपकरण, एक एक्स-रे मशीन जैसे चिकित्सा उपकरण शामिल हैं। यह पोर्टेबल अस्पताल गोली लगने, जलने, सिर, रीढ़ की हड्डी और छाती की चोटों, छोटी सर्जरी, फ्रैक्चर और बड़े रक्तस्राव का उपचार कर सकता है।

ट्रेंडिंग वीडियो