दीपोत्सव में नहीं शामिल होंगे दर्शनार्थी जलाए जाएंगे 6 लाख दीप बनेगा वर्ल्ड रिकॉर्ड

चौथे दीपोत्सव के आयोजन में बदलाव 12 नवंबर को निकाली जाएगी झांकी 13 नवंबर को होगा राज्याभिषेक जलाएं जाएंगे दीप

By: Satya Prakash

Published: 23 Oct 2020, 11:18 PM IST

अयोध्या : राम नगरी अयोध्या में एक बार फिर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाए जाने की तैयारी है। इस बार राम की पैड़ी पर लगभग 6 लाख दीप जलाएं जाएंगे। लेकिन इस आयोजन मैं दर्शनार्थी नहीं पहुंच सकेंगे। कोविड-19 को लेकर जारी एडवाइजरी के मुताबिक अयोध्या में इस बार भव्य आयोजन की तैयारी है।

अयोध्या में भगवान श्री राम की भव्य मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है ऐसे में दीपोत्सव का आयोजन को इस बार ऐतिहासिक मनाए जाने की तैयारी है। जबकि उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले ही दीपोत्सव के इस आयोजन को राजकीय मेला घोषित कर दिया। जिसको लेकर अयोध्या प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है आज इन तैयारियों की समीक्षा बैठक मंडलायुक्त एमपी अग्रवाल की अध्यक्षता में किया गया जिसमें सभी अधिकारियों को दिए गए कार्यों को समय से पूरा करने के निर्देश भी जारी किए गए।

राम नगरी अयोध्या में तीन दिवसीय दीपोत्सव का आयोजन 11 नवंबर से 13 नवंबर तक मनाया जाएगा लेकिन पूर्व की भांति होने वाले कार्यक्रमों में कई बदलाव भी किए गए हैं जिसके तहत 11 नवंबर को भारत कुंड सहित अन्य प्रमुख स्थलों पर दीप जलाए जाएंगे तो वही 12 नवंबर को अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से राम कथा पार्क तक पूर्व की भांति झांकियों को भी निकाला जाएगा लेकिन इस दौरान कोविड-19 के तहत जारी एडवाइजरी को देखते हुए सोशल डिस्टेंस के तहत पूरे आयोजन को किया जाएगा साथी 13 नवंबर को पुष्पक विमान रुपी हेलीकॉप्टर से भगवान श्री राम माता जानकी व लक्ष्मण के साथ सरयू तट पहुंचेंगे जहां उनका भव्य स्वागत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे जिसके बाद राम कथा पार्क में राज्याभिषेक का आयोजन किया जाएगा लेकिन इस दौरान सीमित लोग ही कार्यक्रम में शामिल होंगे।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned