सरयू में आई बाढ़ से टूटा कई गांव का संपर्क

कागजों में दौड़ रही बाढ़ संबंधित योजनाएं पीड़ितों ने शासन-प्रशासन पर लगाया आरोप

By: Satya Prakash

Published: 11 Jul 2020, 09:04 AM IST

अयोध्या : सरयू नदी का जलस्तर बढ़ते ही निचले इलाकों में रहने वाले किसानों के लिए संकट बढ़ गई है। बाढ़ के कारण तटीय क्षेत्र के कई गांवों का मुख्य मार्गों से संपर्क टूट गया है और हजारों एकड़ फसलें जलमग्न हो गईं हैं। जिसके कारण किसानों को भारी नुकसान हो रहा है.

उत्तर प्रदेश सरकार लगातार बाढ़ क्षेत्र के बचाव को लेकर तमाम योजनाएं लागू किया है और आपात स्थिति को लेकर करोड़ों रुपए की धनराशि भी आवंटित की गई है और समय-समय पर सरकार के मंत्रियों द्वारा स्थलीय निरीक्षण का दौरा किया जाता है लेकिन अयोध्या सरयू नदी के तटीय क्षेत्रों के गांव को अभी तक किसी भी प्रकार से योजना का लाभ नहीं मिल सका है। अयोध्या जनपद के रुदौली विकासखंड क्षेत्र स्थित सड़री, पसैया, नैपुरा, मुतौली, जैथरी, उधरौरा और रसूलपुर जैसे कई गांव है जहां हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. और और जहां सड़क मार्ग से कई गांव का संपर्क टूट गया है तो वही
हजारों एकड़ फसलें जलभराव से नष्ट हो रहे हैं. यह पहली बार नहीं हुआ है यहां हर बार ऐसी मुसीबत का सामना ग्रामीणों को करना पड़ता है।

ग्रामीणों का कहना है कि जलजमाव से फसलें नष्ट होने के बाद उन्हें इसका मुआवजा भी नहीं मिलता। उन्होंने कहा कि स्थानीय जनप्रतिनिधि लाभ दिलाने के बहाने वोट लेते हैं लेकिन समस्या खड़ी होने पर उनकी सुनने ना तो कोई जनप्रतिनिधि आता है और न ही अधिकारी भी।प्रभावित क्षेत्र में मौजूदा हालात की बात करें तो महंगू का पुरवा गांव जाने की पानी में डूब गई है. चारों ओर बैरिकेडिंग करके आवागमन पर रोक लगा दिया गया है।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned