बड़ी जानकारी : अयोध्या में सशर्त ही होगी शादी का आयोजन

अयोध्या में शादी आयोजन से पहले जान ले शर्ते नही तो हो सकती है कार्यवाही

By: Satya Prakash

Updated: 21 Nov 2020, 09:55 AM IST

अयोध्या : जनपद में रहने वाले लोगों के लिए खास जानकारी अब अपने घर परिवार में किसी भी प्रकार के आयोजन से पहले सरकार के गाइडलाइन का जरूर पालन करें नहीं तो कार्यवाही की हद में आ सकते हैं दरसल covid-19 के बीच नवंबर और दिसंबर माह में पड़ने वाली शादी विवाह समारोह को लेकर जिला प्रशासन ने भी कमर कस ली है। वहीं जिलाधिकारी अनुज झां ने कोविड-19 को देखते हुए किसी भी आयोजन से पहले अनुमति लेना होगा जिसमें कई शर्तों को भी नियमानुसार पालन करना होगा।


1: भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी कोविड-19 हेतु मेडिकल प्रोटोकाॅल, हैण्ड सेनिटाइजेशन एवं हाईजिन का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करना होगा।

2 : विवाह आदि आयोजन में सम्मिलत व्यक्तियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा


3 : कन्टेन्मेन्ट जोन के बाहर किसी भी बंद स्थान यथा-हाॅल या कमरे की निर्धारित क्षमता का 50 प्रतिशत किन्तु अधिकतम 200 व्यक्ति ही शामिल होंगे

4 : खुले स्थानों पर भी यह प्रतिबन्ध लागू होगा। कार्यक्रम स्थल पर सैनिटाइजर्स, थर्मल स्कैनिंग उपकरणों की पर्याप्त व्यवस्था तथा प्रवेश द्वार पर हैण्ड सैनिटाइजेशन एवं थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था आयोजक अथवा परिसर के स्वामी को करना अनिवार्य होगा।

5 : कार्यक्रम स्थल पर यथासंभव आने वाले व्यक्तियों हेतु प्रवेश एवं निकास द्वार अलग-अलग बनाई जाएंगे।

6 : कार्यक्रम स्थल पर वही व्यक्ति सम्मिलत हों, जिनमें किसी प्रकार के कोविड लक्षण नहीं होगें।


7 : सामूहिक खान-पान आदि कार्यक्रम में भोजन बनाने वाले कर्मियों की रैण्डम कोविड टेस्टिंग की जांच करानी होगी।

8 : कार्यक्रम स्थल होटल, रेस्टोरेन्ट, बैंक्वेटहाॅल, धर्मशाला, लाॅज, मैरिज लाॅन एवं मंदिर परिसर आदि में चिकित्सीय आधारभूत सुविधाओं के दृष्टिगत निकटवर्ती हास्पिटल से मैपिंग सम्बन्धित प्रबन्ध अवश्य करना होगा

9 : कार्यक्रम स्थल पर आने वाले सभी अतिथिगण आदि का नाम, पता, मोबाइल नंबर तथा आधार कार्ड आदि रजिस्टर में अंकन किया जायेगा जिसे कभी भी अपरिहार्य स्थितियों में किसी भी उच्च अधिकारी अपने कार्यालय में मंगाकर अवलोकन कर सकते है।

10 : कोई भी विवाहोत्सव कार्यक्रम सड़कों एवं अन्य सार्वजनिक स्थल पर नहीं किये जायेगे तथा सभी प्रकार की रस्म अदायगी परिसरों के अंदर ही होगी एवं सड़कों पर कोई रस्म अदायगी जैसे घुड़चढ़ी आदि नहीं की जायेगी।

11 : विवाहोत्सव हेतु मात्र सम्बन्धित क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट से अनुमति प्राप्त करनी अनिवार्य होगी एवं डी0 जे0 वैण्डबाजा आदि के सम्बन्ध में मा0 न्यायालयों द्वारा पारित आदेश का अनुपालन किया जायेगा।

नोट : इन निर्देशों का उल्लंघन उत्तर प्रदेश शासन, चिकित्सा अनुभाग-5 की अधिसूचना संख्या-548/2020, दिनांक :14 मार्च, 2020 के तहत जारी उत्तर प्रदेश महामारी कोविड-19 विनियमावली प्रस्तर-15 में प्रदत्त व्यवस्था के अनुसार भारतीय दण्ड संहिता (अधिनियम संख्या-45 सन् 1860) की धारा-188 व आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की धारा-51 से लेकर 60 की संगत धाराओं के अन्तर्गत दण्डनीय होगा।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned