अयोध्या में मंदिर निर्माण से खुश है मुस्लिम समुदाय

- कहा, मिलेगा रोजगार, दूरियां होंगी कम
- कफ्यू से मिलेगी निजात,भय होगा दूर

By: Karishma Lalwani

Updated: 31 Jul 2020, 05:38 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

अयोध्या. अयोध्या शहर में 22 मस्जिद हैं जहां नमाज अदा की जाती है। दोनों कौमों के बीच यहां कभी सांप्रदायिक दंगा नहीं हुआ। यही माहौल अब और मजबूत होगा। यह कहना है बाबरी मस्जिद के मुख्य मुददई रहे मोहम्मद इकबाल अंसारी का। वह कहते हैं लंबे अरसे के बाद अब अयोध्या का कायाकल्प हो रहा है। इस बदलाव से अयोध्या के मुस्लिम भी खुश हैं। राममंदिर निर्माण से आए दिन होने वाले फंसाद और बवाल बंद हो जाएंगे। सभी का रोजगार और चमकेगा।

राम नगरी अयोध्या में श्रीरामलला के भव्य मंदिर निर्माण से हिंदू ही नहीं यहां के मुस्लिम भी खुश हैं। सभी को इस महाउत्सव में अपना सहभागिता का इंतजार है।उनका मानना की मंदिर निर्माण की वजह से ही अयोध्या का कायाकल्प हो रहा है। अयोध्या पर्यटकों की नगरी बनेगी तो रोजी रोजगार के साधन भी विकसित होंगें।

मस्जिद शाह आलम गिरी के इमाम हाजी एखलाक कहते हैं कि राममंदिर की वजह से ही अयोध्या अंतरराष्ट्रीय स्तर की हाइटेक सिटी बन रही है। केंद्र व प्रदेश सरकार ने मास्टर प्लान के तहत अयोध्या के विकास का खाका तैयार किया है । शहर के विकास के साथ ही अयोध्या में रोजगार के भी साधन बढ़ेंगे। मंदिर-मस्जिद का मामला खत्म होने के बाद कफ्र्यू से निजात मिलेगी। पूरे शहर में अमन शांति होगी तो व्यवसाय भी बढ़ेगा। अयोध्या में रहने वाले 8 हजार से अधिक मुस्लिम समुदाय अयोध्या के विकास से काफी खुश हैं। लोगों के मुताबिक अयोध्या के विकास के साथ-साथ रोजी रोजगार के भी साधन विकसित हो रहे हैं। बूटों के साए में रहने वाली अयोध्या जब गुलजार होगी तब यहां के लोगों का भी आर्थिक उन्नयन होगा।

तीन महीने की आर्थिक तंगी होगी दूर

यहां की दर्जनों मंदिरों के लिए मालाएं तैयार करने वाले बेगमपुरा मोहल्ले के करीब 200 लोग रामनाम से ही रोजी रोटी चलाते हैं। इनमें कुछ फूलों की खेती करते हैं। उनका कहना है जब पर्यटक आएंगे तो हमारी आमदनी में वृद्धि होगी। फूल बेचने वाले इमरान ने कहते हैं कि हमारे परिवार में 50 साल से फूलों बेचने का कार्य किया जा रहा है। अब जब अयोध्या में चहल-पहल बढ़ेगी तब फूलों की भी मांग बढ़ेगी। पूरी अयोध्या को सजाया जा रहा है। ऐसे में विभिन्न मंदिरों से फूलों की बड़ी संख्या में ऑर्डर मिला हुआ है। इससे पिछले तीन महीने की आर्थिक तंगी दूर हो जाएगी। यह हमारे लिए खुशी की बात है।

अब अयोध्या में बसना चाहते हैं रिश्तेदार

इसी तरह धार्मिक अनुष्ठानों के लिए खड़ाऊ बनाने वाले चांद बाबू कहते हैं कि अब तो हमारे दूर के रिश्तेदार भी अयोध्या बसना चाहते हैं। उन्हें भी लगता है कि आने वाले दिनों में रोजगार के लिए सबसे बढिय़ा जगह होगी अयोध्या। मोहम्मद आजम खान का परिवार भी खड़ाऊं बनाता है। इनके यहां पीढिय़ों से यह कार्य किया जा रहा है। जिसे अयोध्या से बाहर भी भेजा जाता है। अभी वह रोज लगभग 100 से अधिक खड़ाऊं बनाते हैं। वह कहते हैं अयोध्या में मंदिर के साथ-साथ अयोध्या का जब विकास होगा तब हम सभी की आमदनी भी दोगुनी होगी। वह कहते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा अयोध्या को सुंदर बनाए जाने की जो कल्पना है वह बहुत ही सुंदर है इस व्यवस्था से सभी की आय बढ़ेगी।
......................
मुस्लिम छात्राओं में खासा उत्साह, थ्री-डी इंपैक्ट पर डिजाइन करेंगी रंगोली

अयोध्या. भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के ऐतिहासिक पल की गवाह बनकर मुस्लिम छात्राएं हम साथ-साथ हैं का संदेश देते हुए नई इबारत गढ़ेंगी। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के फाइन आर्ट विभाग की छात्रा मासूम जेहरा, व दिव्यांग अरीबा खान अपने हुनर से थ्री-डी इंपैक्ट पर अवधी लोक संस्कृति पर आधारित विभिन्न कलाकृतियों को रंगोली के जरिए डिजाइन करेंगी। यह सभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत कार्यक्रम को भव्यता प्रदान कर आपसी सौहार्द की मिसाल पेश करेंगी। इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनने के लिए मुस्लिम छात्राओं का उत्साह सातवें आसमान पर है।

भूमि पूजन कार्यक्रम पर थ्री डी इंपैक्ट पर अवधी लोक संस्कृति पर आधारित मनमोहक फूलों की रंगोली व मल्टी कलर रंगोली बनाई जाएगी। इसमें वंशवृद्धि के द्योतक कमल की बेल आलेखन द्वारा डिजाइन, भगवान राम की चरण पादुका, कोहबर से परिपूर्ण 200 मटकों को डेकोरेट किया जाएगा। अयोध्या के 45 स्थल चिन्हित किए गए हैं जहां रंगोली सजावट की जाएगी। इनमें साकेत महाविद्यालय, राम जन्मभूमि परिसर का भूमि पूजन स्थल, हनुमानगढ़ी, राम की पैड़ी आदि प्रमुख हैं।

ये भी पढें: प्रदेश के 30 हजार परिषदीय विद्यालयों में बनेगा किचन गार्डन, 15 करोड़ रुपये स्वीकृत

Ram Mandir
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned