अब हाईकोर्ट जाएगा राम मंदिर जमीन घोटाला मामला, ट्रस्टी चम्पतराय व अनिल मिश्रा के खिलाफ जांच की मांग

रामालय ट्रस्ट के अविमुक्तेश्वरानंद के साथ अयोध्या के कुछ संतों का आरोप है कि रामलला परिसर के विस्तार के नाम पर अयोध्या के
प्राचीन मंदिरों का अस्तित्व खत्म करने की साजिश रची जा रही है।

By: Hariom Dwivedi

Updated: 16 Jun 2021, 07:40 PM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
अयोध्या. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर अब एक और आरोप लगा है। रामालय ट्रस्ट के अविमुक्तेश्वरानंद के साथ अयोध्या के कुछ संतों का आरोप है कि रामलला परिसर के विस्तार के नाम पर अयोध्या के प्राचीन मंदिरों का अस्तित्व खत्म करने की साजिश रची जा रही है। बिना सहमति प्राचीन मंदिरों को तोड़ा जा रहा है। इस संबंध में ट्रस्टी भी भूमिका की जांच के लिए जिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा गया। उन्होंने कहा कि रामकोट में प्राचीन मंदिरों को तोड़ने के खिलाफ कोर्ट में याचिका दाखिल की जाएगी। निर्मोही अखाड़ा के वकील रंजीतलाल वर्मा को इसके लिए अधिकृत किया गया है।

यह भी पढ़ें : शुरू करें अपना बिजनेस, बिना गारंटी मिलेगा 25 लाख तक लोन, 10वीं पास भी कर सकते हैं Apply

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned