अयोध्या के मंच से ओवैसी ने सीएम योगी पर की टिप्पणी कहा बाबा के पास है नाम बदलने का फार्मूला

अयोध्या जनपद रुदौली क्षेत्र में चुनावी जनसभा संबोधित करते हुए 6 दिसंबर 1992 की घटना का भी किया जिक्र

By: Satya Prakash

Updated: 07 Sep 2021, 11:03 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
अयोध्या. AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अयोध्या में 2022 विधान सभा चुनाव का आगाज करते हुए मुस्लिम समाज के लोगो से आवाहन किया। उन्होंने कहा कि आपने यहां पर आकर इस बात का पैगाम दे दिया वर्ष 2022 में जो प्रदेश में विधानसभा के चुनाव होंगे उसमें रुदौली से ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन का विधायक बनकर आपकी आवाज उठाएगा। और कहा कि उत्तर प्रदेश में सबको अपना-अपना हिस्सा मिल गया अगर किसी के साथ इंसाफ नहीं हुआ किसी को उनका हिस्सा नहीं मिला तो वह उत्तर प्रदेश के मुसलमान हैं जिनको अभी तक कोई हिस्सा नहीं मिला और आज से पिछले 60 वर्षों से सेकुलरिज्म के झूठे वादे पर वोट दिया कभी आपने कांग्रेस को वोट दिया उनको नेता बनाया विधायक बनाया सांसद बनाया मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री बनाया फिर कभी बीएसपी को व समाजवादी पार्टी को वोट दिया उन्हें भी मुख्यमंत्री लेकिन उत्तर प्रदेश में आपका कोई नेता नही हैं। आज उत्तर प्रदेश मुस्लिमों की अहमियत नही है। और न ही आँशुओं की अहमियत है। वही कहा कि रुदौली में 2 वर्षों से ओवरब्रिज नहीं बना लेकिन यदि समाजवादी पार्टी के लोगों से पूछा जाए तो यह कहेंगे कि इधर से ओवैसी गुजरा था।

सीएम योगी के पास नाम बदलने का फार्मूला : ओवैसी

वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ की चुटकी लेते हुए कहा कि अयोध्या के रुदौली के ओवर ब्रिज के बारे में नही पता लेकिन यदि बाबा को बोलेंगे ओवर ब्रिज तो कहेंगे नाम बदल दो उसका। यानी कि हमारा हाल ऐसा हो गया है। वहीं कहा कि ये विकास हो रहा है बाबा के दौर में और बाबा के पास एक ही फार्मूला है नाम बदल दो काम हो जाएगा। और कहा कि लोग कहते हैं कि ओवैसी अयोध्या का नाम नही लेते हैं। मैने कहा कि अयोध्या भी भारत में है। फैज़ाबाद भी भारत मे है। और रहेगा। और कहा कि ये फैज़ाबाद अयोध्या है अगर कोई मुझसे सवाल करता है तो याद रखों इसी अयोध्या में 6 दिसंबर को हमने भी देखा और सारी दुनिया ने देखा कि क्या हुआ था। आज उसका जिक्र करने से भी डरते हैं सेक्युलर पार्टी के लोग और सिर्फ डरा डरा कर वोट हासिल करते हैं।

भाजपा मे भी दागी नेताओं पर भी क्रिमिनल केस : ओवैसी

भाजपा सरकार के एमएलए पर आरोप लगाया कि आज ( 37 फीसदी ) 116 एमएलए के ऊपर क्रिमिनल केस है। वहीं कहा कि आज उत्तर प्रदेश में जिस किसी का नाम अतीक, इजहाम, मुख्तार होगा वो गैंगेस्टर होगा। बाहुबली होगा। लेकिन जिसका नाम प्रज्ञा अजय कुलदीप सुरेश जैसा नाम होगा वो लोक प्रिय नेता होगा। यानी कि अतीक का तालुख एक कमजोर समाज से है। और अतीक अहमद काम से पहले तकरीर करते या गोरखपुर में तकरीर करते तो हो सकता कि महाराज उन पर से केस वापस ले लेते क्यों कि मुख्यमंत्री ने अपने ऊपर लगे केस को विड्रॉल करा लिया है और बीजेपी के 70 मुकदमे वापस ले लिया । मुजफ्फरनगर के कांड का। वहीं कहा कि आपको बीजेपी कब द्वारा डराया जाएगा। इसलिए हम तो आये हैं उत्तर प्रदेश से बीजेपी को हराने के लिए लेकिन इसका मकसद यह है कि यूपी में दुबारा योगी मुख्यमंत्री न बने ।

Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned