अयोध्या विकास को लेकर पीएम मोदी 26 जून को सीएम योगी से करेंगे वर्चुअल संवाद

अयोध्या (Ayodhya) में भूमि खरीद में अनियमितता के आरोपों के बीच 26 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) रामनगरी में विकास संबंधी परियोजनाओं को लेकर सीएम योगी (CM Yogi) और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक (Virtual Meeting) करेंगे।

By: Abhishek Gupta

Published: 21 Jun 2021, 04:47 PM IST

अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में भूमि खरीद में अनियमितता के आरोपों के बीच 26 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) रामनगरी में विकास संबंधी परियोजनाओं को लेकर सीएम योगी (CM Yogi) और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक (Virtual Meeting) करेंगे। सरकार की ओर अयोध्या में शुरू की गई परियोजनाओं की प्रगति रिपोर्ट पेश की जाएगी। पीएमओ के वरिष्ठ अधिकारी भी इस वर्चुअल बैठक का हिस्सा होंगे। अगले साल होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव के लिए अयोध्या में विकास में तेजी लाने को भाजपा के एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में देखा जा रहा है। यूपी सरकार के अधिकारियों ने बताया कि पीएम के साथ बैठक में अयोध्या जिला प्रशासन और अयोध्या विकास प्राधिकरण (एडीए) के अधिकारी भी जुड़ेंगे।

ये भी पढ़ें- 2022 चुनाव तक पीएम मोदी के यूपी में होंगे लगातार दौरे, अमित शाह, राजनाथ और नड्डा भी भरेंगे कार्यकर्ताओं में जोश

कई परियोजनाओं का करेंगे समीक्षा-

बैठक में पीएम मोदी 10,000 करोड़ रुपये की ग्रीनफील्ड सिटी परियोजना की प्रगति के साथ-साथ अयोध्या में लगभग 5,000 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से बनने जा रहे बहुप्रतीक्षित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की समीक्षा भी करेंगे। बैठक में सरकार द्वारा 13 किलोमीटर लंबाई वाले सरयू बैंक के विकास पर एक प्रस्तुति भी दी जाएगी। पीएम मोदी राम मंदिर से जुड़ी सड़कों के निर्माण की प्रगति की समीक्षा भी करेंगे।

दो और परियोजनाओं की दी गई है हरी झंडी-

बीते सप्ताह यूपी कैबिनेट ने दो प्रमुख परियोजनाओं को हरी झंडी दिखाई थी, जिसमें एक बस स्टेशन और प्रस्तावित हवाई अड्डे को अयोध्या-सुल्तानपुर रोड को जोड़ने वाली सड़क का चौड़ीकरण शामिल है। 400 करोड़ रुपये की लागत से बस स्टेशन प्रस्तावित है। यह अयोध्या में स्थापित हो रहे सांस्कृतिक केंद्र के पास बनाया जाएगा। यहां से वाराणसी, लखनऊ, गोरखपुर, कानपुर, प्रयागराज, आजमगढ़, बलिया और श्रावस्ती के लिए बस सेवा प्रदान की जाएगी।

ये भी पढ़ें- International Yoga Day 2021 : सांसद हेमा मालिनी बोलीं- श्रीकृष्ण ने दिया योग तो पीएम मोदी ने समूची दुनिया तक पहुंचाया

राम मंदिर का निर्माण पूरा होने के बाद पर्यटकों की भारी आमद को देखते हुए दोनों परियोजनाओं को महत्वपूर्ण माना जाता है। 2,500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से प्रस्तावित 65 किलोमीटर लंबी रिंग रोड के निर्माण की प्रगति की पीएम मोदी समीक्षा कर सकते हैं। इसी तरह पंचकोसी परिक्रमा मार्ग और पर्यटन केंद्र जैसी परियोजनाओं को भी पीएम के पेश किया जा सकता है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned