राम मंदिर निर्माण के लिए कार्यशाला में तैयारी तेज

-कार्यशाला में रखें तरासे गए पत्थरों की सफाई को लेकर शुरू हुई टेस्टिंग

-मंदिर निर्माण से पहले चमकाए जाएंगे पत्थर : विहिप

By: Satya Prakash

Updated: 06 Jan 2020, 10:15 PM IST

अयोध्या : राम जन्मभूमि पर ट्रस्ट निर्माण की प्रकिया अंतिम दौर में है तो वहीं विहिप ने भी राम मंदिर निर्माण की तैयारी शुरू कर दी है। आज मंदिर निर्माण कार्यशाला में रखे तरासे गए पत्थरों की साफ सफाई के लिए टेस्टिंग किया गया ताकि आने वाले समय पत्थरों को ले जाने के पहले उसे अच्छी तरह से चमकाया जा सके।

9 नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट में सरकार को तीन माह में मंदिर के लिए नए ट्रस्ट गठन का दायित्व शौंपा था। अब यह प्रकिया अंतिम दिशा में है। वहीं कार्यशाला में भी नए पत्थरों को लाने व तरासी का कार्य किया जाने सहित तरासे गए पत्थरों को परिसर तक ले जाने की भी योजना है। इसके पूर्व राम मंदिर निर्माण के लिए कार्यशाला में रखें पत्थरों की सफाई को लेकर कार्य योजना तेज बनाई जा रही जिसके लिए कई तरह से आज पत्थरों की टेस्टिंग किया गया। जिसमें पानी प्रेसर, लाल मोरंग व कैमिकल डाल कर शुरू किया गया।

राम मंदिर निर्माण कार्यशाला प्रभारी अन्नू सोनपुरा ने बताया कि अमन निर्माण में ज्यादा समय नहीं। इसलिए पत्थरों की सफाई का कार्य शुरू किया जा रहा है। इसके लिए आज टेस्टिंग का कार्य शुरू किया गया है तुम्हें पानी अन्य केमिकल का इस्तेमाल भी किया जाएगा जिससे काई को कम समय में छुड़ाया जा सके और जल्द ही अन्य पत्थरों की सफाई को लेकर कार्य तेज गति से किया जाएगा वही बताया कि तराशे गए रखे पत्थरों के काई को साफ करने में 8 से 10 दिन लगेंगे। और जैसे- जैसे समय नजदीक आएगा मजदूरों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।


विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता शरद शर्मा के मुताबिक हम सब को आशा है कि जल्द ही ट्रस्ट की घोषणा के बाद मंदिर निर्माण की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी। इसके निमित्त जो तैयारी करनी चाहिए वह शुरू कर दी गई। 20 जनवरी को होने वाले संतों की बैठक के बाद यह कार्य तेज गति से शुरू होगा । अभी ट्रस्ट निर्माण को लेकर इंतजार किया जा रहा है। वही बताया कि श्री राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की बेला धीरे-धीरे निकट आती जा रही है और जिस प्रकार से बनी सर्वोच्च न्यायालय निर्णय दिया उसके उपरांत लोगों में आशा की किरण जगी है कि भव्य मंदिर में भगवान राम लला विराजमान होंगे। वही बताया जिस प्रकार से लोग अपना भवन बनाने के लिए कार्य की तैयारी करते हैं उसी प्रकार मंदिर निर्माण को लेकर तैयारी की जा रही है जिसके तहत प्रक्रिया है कि पत्रों को ले जाने के पूर्व उसकी साफ-सफाई हो जिसके लिए आज टेस्टिंग का कार्य कार्यशाला में किया गया है। और आने वाले समय में पूरी व्यवस्था के साथ कार्यशाला तैयार रहे इसके निमित्त कार्यशाला कार्य शुरू किया गया है जिसमें पत्रों की साफ सफाई के लिए अलग-अलग प्रकार से टेस्टिंग की जा रही है कि जिस से जल्द से जल्द सफाई हो सके।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned