कोविड-19 प्रोटोकॉल के बीच अयोध्या में कार्तिक परिक्रमा मेला की तैयारी

बाहरी श्रद्धालुओं पर परिक्रमा करने से सख्त हुआ प्रशासन

By: Satya Prakash

Updated: 20 Nov 2020, 06:52 PM IST

अयोध्या : राम नगरी अयोध्या में कोरोना काल के बीच चैत्र मेला, सावन झूला मेला के बाद अब कार्तिक मेला पर भी प्रभावित होगा क्योंकि इस मेले में भी बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं पर रोक लगाई गई है। कार्तिक मेला लाखों श्रद्धालु अयोध्या की परिक्रमा करते हैं लेकिन इस वर्ष यह परिक्रमा सिर्फ अयोध्या के लोग ही करेंगे इस दौरान कोविड-19 संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जारी एडवाइजरी के तहत प्रशासनिक व्यवस्थाएं भी चुस्त-दुरुस्त होंगी।

राम नगरी अयोध्या में परिक्रमा मेला की तैयारी जोरों पर है पूरे परिक्रमा मार्ग की साफ-सफाई के साथ परिक्रमा करने वालों के लिए व्यवस्थाएं की जा रही हैं वैसे तो अयोध्या में लाखों की संख्या में श्रद्धालु देश भर से पंचकोशी परिक्रमा, 14 कोसी परिक्रमा और कार्तिक पूर्णिमा स्नान मेले में शामिल होने के लिए आते रहे हैं।लेकिन इस बार कोविड-19 के संक्रमण के खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने 14 कोसी परिक्रमा से पूर्व अयोध्या की सीमाओं को सील करने का निर्णय लिया है। जिससे अयोध्या में बाहरी श्रद्धालु प्रवेश नहीं कर सके। और सिर्फ अयोध्या के रहने वाले नागरिकों को ही अयोध्या आने की अनुमति दी गई है। और यह पूरी व्यवस्था कोविड-19 के संक्रमण बचाने को लेकर की गई है।

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा के मुताबिक स्थानीय लोग भी इस बार परिक्रमा और कार्तिक पूर्णिमा स्नान मेले से परहेज करें। जिनकी मान्यता हो वही परिक्रमा और मेले में स्नान करें। इस बार परिक्रमा के दौरान मास्क को लेकर चेकिंग की जाएगी साथ ही जगह-जगह कोविड 19 हेल्पडेस्क बनाया जाएगा। जहां पर थर्मल स्कैनिंग की जाएगी जिसकी वजह से श्रद्धालुओं को असुविधा का सामना भी करना पड़ सकता है। साथ ही बताया कि इस पूरे परिक्रमा मेला के दौरान किसी भी प्रकार से बाहर के श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया जाएगा जिसके लिए सभी प्रवेश मार्गों पर पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned