हर घर में विराजेंगे अयोध्या के राम

-अयोध्या में भगवान भव्य मंदिर निर्माण के साथ तैयार हो रही श्री राम के मूर्ति

-असम के मूर्तिकार ने तैयार किया भगवान राम की अकादमिक प्रतिमा

By: Satya Prakash

Published: 20 Jul 2020, 07:08 PM IST

सत्य प्रकाश
अयोध्या : राम मंदिर निर्माण प्रारंभ होने के साथ ही अयोध्या में भगवान श्री राम की मूर्ति तैयार किए जाने का कार्य भी तेजी से शुरु हो चुका है। क्योकि अयोध्या में बिकने वाले मकराना पत्थरों से तैयार हो रहे भगवान श्रीराम की मूर्तियों की मांग बढ़ गई है।

अयोध्या में भगवान श्री रामलला भव्य मंदिर में विराजमान होने के साथ ही देश के हर घर में अयोध्या के राम विराजमान होंगे जिसके लिए देश भर से आने वाले श्रद्धालु व पर्यटक अयोध्या में मकराना पत्थर की मूर्तियों को खरीद रहे हैं। अयोध्या में 1 फुट से लेकर 4 फुट तक की मूर्तियों की मांग है जिसकी कीमत न्यूनतम 2000 से शुरू है। धार्मिक मान्यता अनुसार राम नगरी अयोध्या की भूमि को बहुत ही पवित्र है। इसलिए देश विदेश से लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंचते हैं और रामलला का दर्शन पूजन भी करते हैं। जिसका प्रसाद लोग अपने गांव और घर में भी वितरित करते हैं लेकिन 9 नवंबर 2019 में आए फैसले के बाद देशभर के गांव व घरों में भगवान राम की प्रतिमा को स्थापित करने की भावना तेज हो गई है इसको लेकर लगातार अयोध्या आने वाले श्रद्धालु श्री भगवान राम की प्रतिमा को ले जाकर अपने गांव और घरों में विराजमान करा रहे हैं। वहीं असम के मूर्तिकार रंजीत मंडल ने भगवान श्री राम के अकादमिक प्रतिमा तैयार किया है। जो कि सुल्तानपुर जनपद के काम है स्थापित करने के लिए बनवाई गई है।

अयोध्या में मूर्ति विक्रेता रामजी गुप्ता की माने तो कोरोना की कारण भगवान श्री राम की प्रतिमा दिखने में प्रभावित रहा लेकिन लॉकडाउन में मिले ने छूट के बाद मूर्तियों की बिक्री बढ़ गई है। जिसके लिए प्रतिमाओं को तैयार करने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अधिकतम मूर्ति 1 फुट से 4 फुट तक तैयार की जा रही है जबकि गांव देहात के आने वाली लोग 8 इंच की भगवान श्री राम की मूर्ति को खरीदना पसंद कर रहे हैं।

मूर्तिकार रंजीत मंडल ने बताया कि रामजन्मभूमि परिसर में बनने वाले रामकथा कुंज के लिए रामायण के प्रसंगों पर तैयार हो रहे भगवान श्री राम की प्रतिमा को 12 घंटे लगातार कार्य के बाद देर रात्रि 2 महीने में विशेष मांग पर भगवान श्री राम के अकादमिक प्रतिमा तैयार किया है। जिसकी ऊंचाई 5 फुट है यह प्रतिमा सुल्तानपुर के गांव में लगाया जाएगा।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned