अयोध्या के मंदिर में रोजेदारों ने पढ़ी नमाज

अयोध्या के मंदिर में रोजेदारों ने पढ़ी नमाज

Satya Prakash | Publish: May, 20 2019 10:53:03 PM (IST) Ayodhya, Ayodhya, Uttar Pradesh, India

राम जन्मभूमि के पास स्थित सरयू कुंज मंदिर में हुआ रोजा इफ्तार

अयोध्या : राम नगरी भले ही मंदिर और मस्जिद विवाद के नाम से जानी जाती हो, लेकिन यहां की गंगाजमुनी तहजीब अपने आप में मिसाल है। धार्मिक अयोध्या में इस सौहार्द्र को बरकरार रखते हुए राम जन्मभूमि विवादित स्थल के निकट स्थित सरयू कुंज मंदिर में रमजान के पाक महीने में रोजा इफ्तार का आयोजन किया गया।

अयोध्या में राम जन्मभूमि व बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर राजनीतिक लोग दोनों समुदाय को आपस मे हमेशा लड़ाने का काम किया हैं लेकिन अयोध्या के एक मंदिर में दर्जनों रोजेदारों ने नमाज अदाकर अपना रोजा खोला कर आज एक बार फिर दोनों समुदाय के गंगा जमुनी सौहार्द कि रास्ते कौमी एकता को मजबूत करने का संदेश दिया है इस कार्यक्रम के आयोजक व सरयू कुंज के महंत युगल किशोर शरण शास्त्री ने बताया कि हमारा मकसद इस इफ्तार के जरिए सिर्फ और सिर्फ कौमी एकता को मजबूत करना है जिससे सभी लोग मेलजोल बना कर रहे, और गंगा जमुनी तहजीब का संदेश अयोध्या से जाए ।

मुस्लिमों को रोजा इफ्तार के लिए साधुओं ने खजूर के साथ मंदिर का प्रसाद लड्डू भी दिया। इस मौके पर मंदिर में मौजूद तमाम हिंदू मुसलमान और सिख प्रतिनिधियों ने सांप्रदायिक सौहार्द और शांति के लिए शपथ ली। रोजा इफ्तार में शामिल होने आए शायर मुजम्मिल ने कहा अयोध्या में अल्पसंख्यक होने के बावजूद हमें कभी डर नहीं लगा । कार्यक्रम में दानिश अहमद , जफर हसन , मोहम्मद तुफैल , जलाल सिद्धकी , जीसान सिद्धकी , आफताब आलम , महताब आलम , मोहमंद इसरार , फैसल वारसी , अब्दुल कलीम , आरडी आनंद, राम सुरेश शास्त्री , इंद्रसेन दास राममिलन शरण शास्त्री, इटावा से अपने साथियों के साथ आए सरदार नरेश चंद्र सिंह आदि लोग मौजूद रहे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned