पहली बार होगी रूसी रामलीला, शामिल होंगे 6 देशों के कलाकार

पहली बार होगी रूसी रामलीला, शामिल होंगे 6 देशों के कलाकार

Ruchi Sharma | Publish: Oct, 23 2018 01:56:15 PM (IST) | Updated: Oct, 23 2018 01:56:16 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

पहली बार होगी रूसी रामलीला, शामिल होंगे 6 देशों के कलाकार

अयोध्या. पिछले साल की तुलना में इस साल अयोध्या में दीपावली खास होने वाली है। पहली बार आप रामलीला के मंच पर रूसी कलाकारों को देखेंगे। यहां होने वाली रामलीला में इस साल रूसी कलाकार मंचन करेंगे। विदेशी मेहमानों से पूरी अयोध्या की गलियां गुलजार होंगी। यह रामलीला अपने आप में अद्भुत तो होगी ही वहीं अयोध्यावासियों ने तीन लाख से ज्यादा दीप जलाकर 'गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड ' में नाम दर्ज कराने के लिए तैयारी में जुटे हैं। इसके साथ ही यहां दो राज्यों के अलावा करीब छह देशों के कलाकार और विदेशी मेहमान भी शिरकत करेंगे। वहीं छोटी दीपावाली के दिन भगवान श्रीराम की जिंदगी से जुड़े 15 रथों की झांकी भी निकाली जाएगी।

1960 से रूस में रामलीला का मिलता है इतिहास

रूसी राम के नाम से प्रसिद्ध 12 कलाकार गेनादी पेचनीकोव के शिष्य हैं, जो कि रूसी-भारतीय मैत्री संघ 'दिशा' और अयोध्या शोध संस्थान अयोध्या के एक साथ की गई कोशिशों से रूसी कलाकार रामलीला का मंचन करेंगे। बता दें कि रूस में सन् 1960 से रामलीला का इतिहास मिलता है, जहां गेनादी ने लगभग 20 साल रामलीला का मंचन किया है।

इस मामले में अयोध्या शोध संस्थान के निदेशक डॉक्टर योगेंद्र प्रताप का कहना है कि सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रयासों का ही फलस्वरूप ही भारत भूमि पर रामलीला का मंचन करने लिए विदेशी कलाकार पर आ रहे हैं।

इन देशों के कलाकार भी होंगे उपस्थित

इस दीपावली पर होने वाले तीन दिवसीय दीपोत्सव कार्यक्रम में पहली बार अयोध्या की दिवाली की गूंज कई देशों में सुनाई देगी। यहां रूसी कलाकारों के साथ-साथ कंबोडिया, श्रीलंका, लाओस, ट्रिनिडाड, इंडोनेशिया से भी कलाकार और मेहमान आ रहे हैं।

द्वितीय दिव्य दीपोत्सव का होगा कार्यक्रम

इसके साथ ही अयोध्या शोध संस्थान के द्वारा द्वितीय दिव्य दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम के अंतर्गत सीता-राम स्वरूप व रंगोली प्रतियोगिता करवाई जाएगी। यह प्रतियोगिता दो चरणों में होगी, जिसमें प्रथम पुरस्कार 51 हजार, दूसरा पुरस्कार 31 हजार, तीसरा पुरस्कार 21 हजार व सांत्वना पुरस्कार पांच लोगों को दिया जाएगा जिसकी राशि 11 हजार रुपए रखी गई है। इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए आप www.rmlau.ac.in वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

बता दें कि सत्ता में आने के बाद योगी सरकार ने अयोध्या में दीप जलाकर दीपावली मनाने का फैसला किया। इस फैसले के तहत पिछले साल अयोध्या का सरयू तट दीपों से जगमगा उठा था। इतना ही नहीं, खुद योगी आदित्यनाथ भी वहां पहुंचे थे।

इस बार भी योगी सरकार दीपावली के आयोजन को ग्लोबल बनाने के लिए जुटी हुई है, जिसके तहत तीन दिनों तक चलने वाली तैयारियां चार नंवबर से शुरू हो जाएंगी। इसके साथ-साथ छोटी दीपावाली के दिन भगवान श्रीराम के जीवन से जुड़ी झांकियां भी निकाली जाएंगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned