दक्षिण भारत के सैकड़ों विद्वानों ने राम मंदिर निर्माण के लिए लिया संकल्प

अयोध्या के सुग्रीव किला में आयोजित संत सम्मेलन में दक्षिण भारत से सैकड़ों विद्वान हुए शामिल

By: Satya Prakash

Published: 03 Mar 2019, 08:23 PM IST

अयोध्या : राम नगरी अयोध्या में स्वामी श्री वेदांत देशिक जी महाराज के 751वीं जयन्ती बड़े धूमधाम से मनाई गई वहीं इस जयंती महोत्सव पर दक्षिण भारत से आए वैदिक विद्वानों ने रामलला का दर्शन कर राम मंदिर निर्माण को लेकर संकल्प भी लिया।

अयोध्या के सुग्रीव किला में जगद्गुरू स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य महराज की अध्यक्षता में स्वामी श्री वेदांत देशिक जी महाराज का तीन दिवसीय जयंती का आयोजन किया गया। यह आयोजन श्रीरामानुजदया,काँचीपुरी तमिलनाडु की संस्था द्वारा आयोजित की गई जिसमें शामिल होने के लिए सैकड़ों की संख्या में वैदिक विद्वानों पहुंचे अयोध्या। जहां सभी विद्वानों ने अयोध्या मैं विराजमान भगवान राम लला का दर्शा भी वही इस दौरान सभी विद्वानों ने राममंदिर निर्माण के लिए संकल्प भी लिया। वह इस कार्यक्रम केे समापन के दौरान संत सम्मेलन का भी आयोजन किया गया जिसमें अयोध्याा के कई साधु संत शामिल हुए । इस सम्मेेलन में सनातन धर्म की रक्षा करने के लिए सभी हिंदुओं को एकजुट होने की बात कही वही अयोध्या की धरती पर होनेेेे वाले संत सम्मेलन में राम मंदिर पर चर्चा ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता इस सम्मेलन में सभी विद्वानों ने राम मंदिर निर्माण को लेकर हो रही देरी पर अपने विचार रखें ।

इस सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहे सुग्रीव किला के महंत पुरुषोत्तम आचार्य ने सुप्रीम कोर्ट के मध्यक्षता किये जाने की बात को लेकर कहा कि हिंदू पक्ष इस समझौते के लिए तैयार है लेकिन मुस्लिम पक्ष ही इस मामले का हल नहीं चाहती है। यदि दूसरा पक्ष भी समझे कि एक होने पर ही समाज का उत्थान हो सकता हैं।
वहीं आज किस कार्यक्रम को लेकर महंत राघवाचार्य ने बताया कि दक्षिण भारत से आए सैकड़ों की संख्या में वैदिक विद्वानों ने भगवान श्री राम के भक्त मंदिर निर्माण के लिए भगवान श्रीराम का स्तवन और पाठ वादुका स्तवन का पाठ कर संकल्प लिया कि राम मंदिर निर्माण में जो भी बाधाएं हैं वह दूर हो और राम जन्म भूमि पर भव्य मंदिर का निर्माण हो।

Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned