अयोध्या में श्री राम की मूर्ति लगाए जाने पर कैबिनेट के बाद संतों ने भी लगाई समर्थन का मोहर

अयोध्या में भगवान श्री राम की भव्य मूर्ति लगाई जाने को लेकर योगी सरकार की कैबिनेट बैठक में प्रस्ताव पारित 300 करोड़ की लागत से लगेगी मूर्ति

By: Satya Prakash

Published: 03 Mar 2019, 11:33 AM IST

अयोध्या : मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की भव्य मूर्ति लगाने को लेकर उत्तर प्रदेश की कैबिनेट ने मुहर लगा दिया है लगभग 300 करोड़ कि लागत से रामघाट के पास स्थित सरयू तट पर 28 हेक्टेयर जमीन पर लगाई जाएगी. जिसके मंजूरी के बाद अयोध्या के संतों ने खुशी जाहिर की है।

बताते चलते हैं कि उत्तर प्रदेश सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को हुए कैबिनेट की बैठक में अयोध्या में लगने वाले मूर्ति को लेकर प्रस्ताव विशेष रूप से पेश किया जिसके बाद इस प्रस्ताव पर सभी सदस्यों ने मुहर लगा दी। जबकि पूर्व में पेश हुए बजट में अयोध्या में राम मूर्ति को लेकर शामिल ना किए जाने के कारण कैबिनेट की बैठक में इसका प्रस्ताव शामिल किया गया जिसके बाद इस प्रस्ताव को स्वीकृति भी कैबिनेट नहीं दे दी अब जल्द ही मूर्ति लगाने को लेकर कवायद शुरू हो जाएगा वहीं योगी आदित्यनाथ द्वारा भगवान श्री राम की भव्य मूर्ति लगाई जाने को लेकर अयोध्या कि संतों ने खुशी जाहिर किया है। संतो के मुताबिक अयोध्या भगवान श्री राम की नगरी है इसलिए भगवान श्री राम का भव्य मूर्ति लगना चाहिए। और राम मंदिर के साथ यह राम मूर्ति भी अयोध्या की विशेष पहचान भी साबित होगी।

महंत राम दिनेशाचार्य ने कहा कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या में यदि सनातन धर्म के अनुरूप परंपरा के मुताबिक भगवान श्री राम की मूर्ति लगाई जाएगी तो वह सही हैं सरकार द्वारा किसी भी धार्मिक कार्यों में सभी संत योगी सरकार के साथ है। और रही बात मूर्ति लगाए जाने को लेकर तो उस मूर्ति की देख रेख पूर्णतया हो इसका भी सरकार को ध्यान रखना जरूरी हैं।
वही निर्मोही अखाड़ा के महंत दिनेन्द्र दास ने भी सरकार के फैसले का स्वागत किया हैं और कहा कि सरकार जो भी कार्य करेगी वह अच्छा हैं अयोध्या में भगवान श्री राम की मूर्ति लगना चाहिए। क्योंकि पूरी अयोध्या भगवान राम की हैं ।

Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned