अयोध्या में बोले मंत्री सुरेश राणा राष्ट्रवाद की जय जयकार ने उखाड़े देशद्रोहियों के पाँव

Anoop Kumar

Publish: Jan, 13 2018 07:50:56 (IST)

Ayodhya, Uttar Pradesh, India
अयोध्या में बोले मंत्री सुरेश राणा राष्ट्रवाद की जय जयकार ने उखाड़े देशद्रोहियों के पाँव

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् द्वारा आयोजित स्वामी विवेकानंद जयंती कार्यक्रम में गरजे योगी सरकार के गन्ना मंत्री


अयोध्या. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् साकेत इकाई द्वारा साकेत महाविद्यालय के जगदंबिका प्रताप नारायण सभागार में स्वामी विवेकानन्द जयंती सप्ताह के अंतर्गत स्वामी विवेकानन्द के विचार और आज का युवा विषयक संगोष्ठी का आयोजन किया गया.संगोष्ठी का उदघाटन मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा, मुख्य वक्ता डॉ. देवानन्द तिवारी,विशिष्ट अतिथि महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ,प्राचार्य डॉ प्रदीप खरे,आलोक कुमार सिंह,विभाग छात्रा प्रमुख दीप्ती सिंह ने ज्ञान की देवी माँ सरस्वती व युवाओं के प्रेरणास्त्रोत स्वामी विवेकानन्द जी के चित्रों के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया.संगोष्ठी को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता डॉ. देवानन्द तिवारी ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द के विचारों में भारतीय संस्कृति की रक्षा व प्रसार हेतु संकल्प था.स्वामी जी ने अपने जीवन में पुरातन का आधुनिकीकरण व आधुनिकीकरण का राष्ट्रीयकरण के सिद्धान्त पर बल दिया.स्वामी जी ने युवाओं के सांस्कृतिक निर्माण को दृष्टि गत रखते हुए कहा कि युवा ही परिवर्तन का द्योतक है.उनकी यही अपेक्षा थी कि भारतीय युवा अपने आध्यात्म व ज्ञान के बल पर अखिल विश्व के विकास के मार्ग को प्रशस्त करेंगे .

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् द्वारा आयोजित स्वामी विवेकानंद जयंती कार्यक्रम में गरजे योगी सरकार के गन्ना मंत्री

कार्यक्रम में उपस्थित छात्रशक्ति को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि सुरेश राणा ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द का जीवन आज के युवाओं के लिए एक प्रेरणादायी साहित्य के समान है.भारतीय इतिहास में अनेकों युवाओं ने देश की आज़ादी के लिए मुस्कुराते हुए अपने जान की बाज़ी लगा दी.विद्यार्थी परिषद् आज ऐसे ही युवाओं के मन में राष्ट्रभक्ति की अलख को जगाकर देश समाज हेतु कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध है.उन्होंने कहा कि अपने लिए जिंदगी जीने के लिए तो हज़ारों आते हैं और मरकर गुमनाम हो जाते हैं परंतु देश के लिए जीने वाले मरने के बाद भी चंद्रशेखर आज़ाद,रामप्रसाद बिस्मिल,भगत सिंह,अशफ़ाक़ उल्ला खान जैसे शहीदों की भांति याद किये जाते हैं.उन्होंने विद्यार्थी परिषद् को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि जिस प्रकार भारतीय सैनिक विभिन्न परिस्थितियों में देश की रक्षा हेतु तत्पर रहते हैं उसी प्रकार अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् देश के अंदर व्याप्त बुराइयों के विरुद्ध सदैव आवाज उठती रहती है.उन्होंने कहा कि वर्तमान परिवेश में राष्ट्रवाद की जय जयकार ने देशद्रोहियों के पाँव उखाड़ने का काम किया है।विशिष्ट अतिथि ऋषिकेश उपाध्याय ने उपस्थित छात्रों को स्वामी विवेकानन्द जी के रास्ते पर चलने को कहा।उन्होंने कहा की जिस प्रकार शिकागो धर्म सम्मेलन में विवेकानन्द जी ने मात्र सम्बोधन भर से भारतीय संस्कृति की शक्ति ? को विश्व भर में जगा दिया था वह उनके आध्यात्मिक तेज का उत्कृष्ट उदाहरण है.

इन गणमान्य व्यक्तियों ने की कार्यक्रम में शिरकत

धन्यवाद ज्ञापन प्राचार्य डॉ. प्रदीप खरे ने किया कार्यक्रम का संचालन परिषद् के विभाग सह संयोजक अंकित शुक्ला ने किया.इस दौरान प्रान्त संगठन मंत्री सत्यभान,प्रान्त सहमंत्री अनीश गुप्ता,जिला संयोजक अंकुर सिंह,जिला सह संयोजक बृजेश वर्मा,मनीष सिंह अविनाश प्रताप,आयूष मिश्र,रविकांत,कृष्णकांत,करन मौर्य,शशांक कसौधन,छात्रसंघ महामंत्री अंकित त्रिपाठी,शुभम तिवारी,वरिष्ठ छात्रनेता सुजीत विक्रम,शिवेंद्र सिंह,ध्रुवराज सिंह,जनमेजय सिंह,भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय बादल,राधेश्याम त्यागी,आकाश सिंह,सुमिता निषाद सहित कार्यकर्ता उपस्थित रहे.

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned