अयोध्या की मिट्टी हाथ में लेकर राम भक्तों ने खाई यह कसम, ..और फिर समाप्त हो गई विहिप की धर्मसभा

अयोध्या में आयोजित विहिप की धर्मसभा में न तो मंच से कोई विवादित बयान दिया गया और न ही अयोध्या के माहौल में कोई खलल
पड़ी...

By: Hariom Dwivedi

Updated: 25 Nov 2018, 07:41 PM IST

अयोध्या . रविवार को अयोध्या की सड़कों पर राम भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। विहिप की धर्मसभा के लिए प्रदेश के अलावा देश के कई हिस्सों से आये लोगों ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने की मांग की। सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ लोगों को नाराजगी भी नजर आई। दावे के मुताबिक, धर्मसभा में एक लाख से ज्यादा लोगों ने शिरकत की। राम मंदिर निर्माण की शपथ के साथ ही विहिप की धर्मसभा समाप्त हो गई। धर्म सभा में भले ही कोई लिखित प्रस्ताव जारी नहीं हुआ, लेकिन इस धर्म सभा को भविष्य के प्रदर्शनों की शुरुआत के तौर पर माना गया।

विहिप की धर्मसभा में न तो मंच से कोई विवादित बयान दिया गया और न ही अयोध्या के माहौल में कोई खलल पड़ी। हां, यह जरूर था कि आम मुस्लिमों में कहीं न कहीं भय का माहौल जरूर दिखा। आयोजन से पहले अयोध्या के मुस्लिमों के पलायन की बात कहने वाले बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इंतजामों से खासे संतुष्ट नजर आये। इतना ही नहीं, उन्होंने विहिप के कार्यक्रम पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि धर्मसभा में आये साधु-संत काफी भले लोग हैं।

यह भी पढ़ें : अयोध्या में उमड़ा रामभक्तों का सैलाब! मुस्लिमों ने किया जोरदार स्वागत, लगाये जय श्रीराम के नारे, देखें वीडियो

अयोध्या की मिट्टी हाथ में लेकर राम भक्तों ने खाई शपथ
विराट धर्मसभा के आखिर में आये राम भक्तों ने अयोध्या की मिट्टी हाथ में लेकर राम जन्मभूमि पर विशाल राम मंदिर निर्माण की शपथ ली। कार्यक्रम में राम भक्तों को शपथ दिलाई गई कि हम इस संघर्ष को बेकार नहीं जाने देंगे। राम मंदिर निर्माण के लिए किसी भी कीमत पर आगे बढ़ेंगे। इससे पहले विहिप की धर्मसभा के लिए देर रात से ही अयोध्या में राम भक्तों का आना शुरू हो गया था। धूप चढ़ते-चढ़ते राम नगरी की सड़कें और गलियां राम भक्तों से खचाखच भर गईं। कई जगह मुस्लिम समुदाय के लोगों ने फूल बरसाकर राम भक्तों का स्वागत भी किया।

उद्धव ठाकरे किये रामलला के दर्शन
रविवार सुबह शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने रामलला के दर्शन किये। दर्शन के बाद उन्होंने मंदिर निर्माण के लिए राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास को चांदी की ईंट भी भेंट की। प्रेसवार्ता में उद्धव ठाकरे ने राम मंदिर पर अध्यादेश लाने की मांग की। उन्होंने कहा कि सरकार अध्यादेश लाये, शिवसेना साथ देगी। उद्धव ठाकरे ने कहा कि चाहे कानून लाइए या फिर अध्यादेश लेकिन अयोध्या में राम मंदिर अवश्य बनाइए। उन्होंने कहा कि आज आज हर हिंदू की जुबान पर सिर्फ एक सवाल है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कब होगा।

यह भी पढ़ें : उद्धव ठाकरे ने अयोध्या में किये रामलला के दर्शन, मंदिर बनाने के लिए दे दिया यह कीमती तोहफा

इतने लोगों ने किये रामलला के दर्शन
अपर पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि रविवार को अयोध्या में कुल 67,888 श्रद्धालुओं ने रामलला के दर्शन किये। पहली पाली (7 बजे से 11 बजे तक) में 27,064 श्रद्धालुओं ने, वहीं दूसरी पाली (दोपहर 13 बजे से शाम 17 बजे तक) में 40, 824 दर्शनार्थियों ने रामलला के दर्शन किये।

यह भी पढ़ें : लाखों रामभक्तों को खुश करने के लिए सीएम योगी ने चला बड़ा दांव, किया धमाकेदार ऐलान

 

देखें वीडियो...

Ayodhya verdict
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned