ममता सरकार के खिलाफ विहिप केंद्र सरकार को सौंपेगीं पत्र

पश्चिम बंगाल में बच्चों को दी जा रही शिक्षा में राम को बताया जा रहा राक्षस

By: Satya Prakash

Published: 24 May 2020, 10:08 PM IST

अयोध्या : विश्व हिंदू परिषद ने ममता सरकार पर धार्मिक विवाद पैदा करने का आरोप लगाया है। शादी केंद्र सरकार से तत्काल ममता सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है। दरअसल पश्चिम बंगाल में स्कूली बच्चों की शिक्षा में भगवान श्रीराम को राक्षस रूपी बताया गया है कक्षा 6 के पाठ्यक्रम में भगवान श्री राम को लेकर बताया गया है कि श्रीराम विदेशी आक्रमणकारी थे और भारत पर आक्रमण करने आये थे और राम शब्द की उत्पत्ति रोमिंग शब्द से हुई है व एक मूल राक्षस हैं । वहीं रावण को भारतीय बताया गया है।जिसे विदेशी राम ने मारकर सत्ता अर्जित की और भारत में अपना राज्य स्थापित किया।

विश्व हिन्दू परिषद के प्रान्तीय प्रवक्ता शरद शर्मा ने आज यंहा कहा कि पश्चिम बंगाल की ममता सरकार के अंतर्गत संचालित शिक्षा विभाग प्रारंभिक पाठ्यपुस्तक पुस्तकों के द्वारा हिन्दुओ की धार्मिक भावनाओ को आहत कर रहा है।एक ओर जंहा देश महामारी से जूझ रहा है,वही पश्चिम बंगाल मे हिन्दुओ की आस्थाओ को रौंदने का काम समय-समय पर ममता देवी के संरक्षण मे किया जा रहा है।केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय तथा गृहमंत्रालय इसे संज्ञान मे लेकर तत्काल इस पर कार्रवाई करे। उन्होंने कहा है कि पश्चिम बंगाल मे कक्षा छः के विद्यार्थियो को पढ़ाई जा रही पुस्तक मे भगवान श्रीराम पर अपमान जनक रूप से लिपिबद्ध किये गये पाठ पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे।उन्होने कहा भगवान श्रीराम सामाजिक समन्वय और राष्ट्रीय एकता के मेरूदंड हैं।जिनका सम्मान भारत सहित विश्व के अनेक राष्ट्रों मे किया जाता है।यहां तक कि मुस्लिम देश भी श्रीराम चरित्र का मंचन कर अपना पूर्वज मानते हैं।वही भारत के अंदर तुष्टिकरण मे अंधभक्त बने लोग अपमान कर हिन्दुओ की धार्मिक भावनाओ पर कुठाराघात कर रहे हैं। इसलिए ममता सरकार इस भ्रामक और मिथ्या पाठ को तत्काल पाठ्यपुस्तक से बाहर करे और अपनी गलती को सुविकार कर रामभक्तों से मांफी मांगे। जिसके लिए केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर और गृहमंत्री अमित शाह जी को आवश्यक कार्रवाई हेतु पत्र दिया जायेगा।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned