राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व सिंधी सेवा संगठन ने 200 किलो चांदी की दान

- सिंहासन और मूर्तियां बनाने में होगा प्रयोग

By: Neeraj Patel

Published: 27 Jan 2021, 02:16 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
अयोध्या. रामनगरी अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए हर भक्त उत्साहित दिखाई दे रहा है। ऐसे में राम मन्दिर निर्माण के लिए सभी भक्त अपनी इच्छानुसार दान कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश समेत देश भर में राम मन्दिर निर्माण के लिए चंदा एकत्रित करने के लिए विश्व हिंदू परिषद और राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा समर्पण निधि अभियान चलाया जा रहा है। वहीं सिंधी समाज भी राम मंदिर निर्माण के लिए बढ़-चढ़कर दान कर रहा है। हाल ही में अयोध्या के कारसेवक पुरम में देश के अलग-अलग प्रांतों से आए विश्व सिंधी सेवा संगठन के लोगों ने 200 किलो चांदी की ईंट दान की है। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय को यह ईंट विश्व सिंधी सेवा संगठन के लोगों द्वारा सौंपी गई।

दरअसल, विदेशों में रह रहे सिंधी समाज के लोगों के सहयोग से भगवान राम के लिए मंदिर निर्माण में एक-एक किलो की 200 चांदी की ईटें समर्पित की गई हैं। इन ईटों की कीमत 1 करोड़ 50 लाख रुपए बताई जा रही है। इन ईंटों पर सिंधी समाज के देवता वरुण देव का चित्र बना हुआ है। ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने विश्व सिंधी सेवा संगठन के सभी सदस्यों को राम मंदिर के लिए सहयोग देने पर आभार व्यक्त किया। लगभग 100 की संख्या में पहुंचे विश्व सिंधी सेवा संगठन के सदस्यों में महिला और पुरुष दोनों शामिल थे। इन लोगों ने कारसेवक पुरम में सबसे पहले भगवान राम को 200 किलो चांदी की ईंटें समर्पित कीं। उसके बाद राम जन्मभूमि जाकर राम लला के दर्शन किये।

भगवान राम के सिंहासन या मूर्तियों में होगा उपयोग

विश्व सिंधी सेवा समिति के अंतरराष्ट्रीय चेयरमैन डॉ. राजू मनवानी ने कहा कि विश्व सिंधी सेवा संगम, विश्व सिंधी सेवा समिति और सिंधी सेवा समिति पुणे ने मिलकर राम मंदिर के लिए 200 चांदी की ईंटें भेंट की हैं। सिंधी समाज ने ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय से निवेदन किया है कि इन ईंटों को राम मंदिर में प्रयोग किया जाए। जानकारी के मुताबिक, हर एक ईंट की कीमत 70 हजार रुपए है। सिंधी समाज की इच्छा के अनुसार इस चांदी को भगवान राम के सिंहासन या मूर्तियों में उपयोग किया जाएगा।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned