scriptyoung man left his job for Ramlala and journey Pune for Ayodhya | रामभक्त हो जाएंगे खुश! रामलला के लिए इस युवक ने छोड़ दी नौकरी, जानें वजह | Patrika News

रामभक्त हो जाएंगे खुश! रामलला के लिए इस युवक ने छोड़ दी नौकरी, जानें वजह

locationअयोध्याPublished: Dec 11, 2023 01:26:50 pm

Submitted by:

Anand Shukla

भगवान राम के लिए एक शक्स ने अपनी नौकरी छोड़ दी। वह पुणे से अयोध्या के लिए साइकिल से निकल पड़ा है। रास्ते में जो कोई मिलता है, उन्हें राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने का न्यौता देता है।

young man left his job for Ramlala and journey Pune for Ayodhya by bicycle
15 जनवरी को वह अयोध्या पहुंचेगा और राम लला के दरबार में मत्था टेकेगा।
अयोध्या में भव्य भगवान राम का मंदिर बन रहा है। मंदिर का काम पर कुछ ही बचा हुआ है। राम मंदिर में भगवान रामलला जल्द ही विराजमान होने वाले हैं। इसके लिए पूरा देश उत्साहित है। इसी खुशी में 28 वर्षीय एक युवक ने पुणे में अपनी नौकरी छोड़ दी और भगवान राम का दर्शन करने के लिए साइकिल यात्रा पर निकला है। वह रास्ते में मिलने वाले लोगों को सनातन धर्म के प्रति जागरूक कर रहा है और उन्हें राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने का निमंत्रण भी दे रहा है।
यह युवक 17 दिनों से लगातार साइकिल से यात्रा कर रहा है। 15 जनवरी को वह अयोध्या पहुंचेगा और राम लला के दरबार में मत्था टेकेगा।

नौकरी छोड़कर राम लला का दर्शन करने निकला
यह युवक प्रयागराज का रहने वाला है। इसका नाम बलराम वर्मा है, जो पुणे में एक कैंटीन में नौकरी कर रहा था। वह 1 साल से रामलला के मंदिर में विराजमान होने की खबरें सुन रहा था, जब तारीख नजदीक आ गई तो उसने अयोध्या जाने का मन बना लिया। कैंटीन का काम छोड़कर वह साइकिल से ही यात्रा पर निकल पड़ा। सबसे पहले वह शिर्डी पहुंचा, जहां साईं बाबा का आशीर्वाद लिया और यहां से उसने यात्रा शुरू की।
बागेश्वर धाम में मत्था टेकने जाएगा यह शक्स
इसके बाद वह शनि शिंगणापुर से होते हुए मध्य प्रदेश में प्रवेश कर किया। सबसे पहले खंडवा में स्थित नर्मदा नदी किनारे ओंकारेश्वर पहुंचा, जहां पूजन अर्चन के बाद यात्रा को आगे बढ़ाया। फिर उज्जैन में महाकाल के दर्शन किए। वहां से सागर होते हुए बागेश्वर धाम के दर्शनों को जा रहा है। बागेश्वर धाम में मत्था टेकने के बाद वह चित्रकूट होते हुए अयोध्या में पहुंचेगा।
बलराम वर्मा ने बताया कि वह करीब 2000 किलोमीटर की साइकिल यात्रा करेगा। एक दिन में 50 किलोमीटर तक की यात्रा करता है। शाम होने पर मंदिर या कोई धर्मशाला में रुककर आराम करता है।

ट्रेंडिंग वीडियो