पत्रकारों पर हमले के खिलाफ युवक कांग्रेस ने योगी सरकार से की बड़ी मांग

पत्रकारों पर हमले के खिलाफ युवक कांग्रेस ने योगी सरकार से की बड़ी मांग

Anoop Kumar | Updated: 14 Jun 2019, 07:17:48 PM (IST) Ayodhya, Ayodhya, Uttar Pradesh, India

शामली ,झांसी और उत्तराखंड में सामने आई हैं पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार की घटनाएँ


अयोध्या : उत्तर प्रदेश में पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमले एवं उनके शोषण के मामलों पर कार्यवाही और पत्रकारों की सुरक्षा हेतु आवश्यक कानून की मांग को लेकर आज युवा कांग्रेसियों ने प्रदेश महासचिव शरद शुक्ला की अगुवाई में राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा इस ज्ञापन के माध्यम से शामली में पत्रकार अमित शर्मा के साथ बर्बरता करने वाले रेलवे पुलिस के लोगों को बर्खास्त करने, झांसी जनपद में पत्रकार चंद्रकांत यादव के प्रकरण की निष्पक्षता से जांच कर दोषियों को सजा देने उत्तराखंड के खानपुर से बीजेपी विधायक द्वारा पत्रकार राजीव तिवारी को जान से मारने की धमकी देने के मामले में संज्ञान लेने तथा पत्रकारों की सुरक्षा के लिए आवश्यक कानून बनाने जैसी मांगों को लेकर मांग पत्र सौंपा गया।

ये भी पढ़ें - बिग ब्रेकिंग : अयोध्या के संतों ने कहा भगवान राम को काल्पनिक बताने वाले दें जवाब ईराक में कहाँ से आई भगवान राम की प्रतिमा

शामली ,झांसी और उत्तराखंड में सामने आई हैं पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार की घटनाएँ

अवसर पर युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव शरद शुक्ला ने बताया कि लोकसभा में पेश राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट के मुताबिक 2013 से अब तक देश में पत्रकारों पर सबसे ज्यादा हमले उत्तर प्रदेश में हुए है. 2013 से लेकर अब तक उत्तर प्रदेश में पत्रकारों पर हमले के 67 केस दर्ज हुए हैं. मौजूदा सरकार भय बना कर काम करवाना चाहती है यदि अपनी कलम से लोकतंत्र की रक्षा करने वाले पत्रकार भाई ही आज इस सरकार में सुरक्षित नहीं महसूस कर रहे तो यह सोचिए की जनता का क्या हाल होगा। ऐसे हमले उत्तर प्रदेश सरकार की कानून व्यवस्था पर एक बड़ा प्रश्न चिन्ह है। इस अवसर पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता एसपी चौबे, पीसीसी सदस्य बृजेश सिंह चौहान, युवा कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष आरिफ आब्दी, डॉ विनोद गुप्ता, कैफ़ी कमर, सावन शर्मा, शोभित शुक्ला, मोहम्मद वसीम आदि कांग्रेस जन उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें - इलेक्ट्रानिक चाक के जरिये इस प्राचीन कला को बढावा देने और प्रदूषण कम करने के लिए सरकार ने बनाई है योजना

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned