कोरोनाः केरल से आए 15 लोग पहुंचे आजमगढ़, जांच के बाद भेजे गए घर

लॉकडाउन के बाद भी केरल से आजमगढ़ लौटे 15 लोगों को आजमगढ़-जौनपुर के बार्डर पर रोक दिया गया। सभी वाराणसी से प्राइवेट बस से बॉर्डर पर पहुंचे थे।

By: Abhishek Gupta

Updated: 24 Mar 2020, 08:08 PM IST

आजमगढ़। लॉकडाउन के बाद भी केरल से आजमगढ़ लौटे 15 लोगों को आजमगढ़-जौनपुर के बार्डर पर रोक दिया गया। सभी वाराणसी से प्राइवेट बस से बॉर्डर पर पहुंचे थे। बस लोगों को वहीं छोड़कर चली गयी। इसकी जानकारी होने पर अधिकारी मौके पर पहुंच गए। सभी को जिला आस्पताल भेजा गया।

क्षेत्राधिकारी लालगंज अजय कुमार यादव को मंगलवार की सुबह कुछ लोगोंं के प्राइवेट सवारी वाहन बार्डर पर आने की सूचना मिला। इसके बाद वे कोतवाली प्रभारी देवगांव विमलेश कुमार मौर्य के साथ मौके पर पहुंचे। यहां पहुंचने पर पता चला कि आजमगढ़-जौनपुर बार्डर पर केरल से आये 15 लोगों को निजी सवारी बस छोड़कर चली गयी है। सीमा सील होने के कारण वह आगे नहीं आई। पुलिस ने उनसे पूछताछ की तो पता चला कि राम भुवन यादव मऊ, गौतम सोनकर मऊ, विनय मऊ, सूरज सोनकर मऊ, जयहिन्द यादव आजमगढ़, हरिहर सोनकर आजमगढ़, रविद्र आजमगढ़, अमित आजमगढ़, केदार, दीनानाथ, राजेश, रीता एवं दो बच्चे आजमगढ़ के रहने वाले हैं।

मंगलवार की सुबह केरल से ट्रेन से आकर वाराणसी में उतरे। प्राइवेट बस सुबह नौ बजे आजमगढ़ बार्डर पर उतारकर चली गई। इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग की टीम को दी गई। सहयोग न मिलने पर सीओ अजय कुमार यादव ने जिलाधिकारी से वार्ता की। डीएम के निर्देश पर दो एंबुलेंस की व्यवस्था की गई। सभी को जिला अस्पताल भेजा गया। जांच के बाद सभी को घर जाने के लिए छोड़ दिया गया।

coronavirus
Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned