आजमगढ़. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में जोगेंदरनगर व मंडी के बीच पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग पर शनिवार देर रात करीब सवा 12 बजे कोटरोपी हुए हादसे में आजमगढ़ व मऊ के 15 लोगों की मौत से कोहराम मचा हुआ है। सभी मां वैष्‍णों का दर्शन करने के बाद ज्‍वाला देवी का दर्शन करने जा रहे थे। इसी दौरान सभी लोग भूस्खलन की आफत का शिकार हो गए। गोरखपुर में बच्चों की मौत के बाद यह यूपी के पूर्वांचल में दूसरा बड़ा हादसा है, जिसमें इतने लोगों की मौत हुई है।

 

बात दें कि जिले के आजमगढ़ मंडल के मऊ व आजमगढ़ जिले के करीब डेढ़ दर्जन लोग वैष्‍णो देवी का दर्शन करने करने के लिये निकले थे। मां वैष्‍णों देवी का दर्शन करने के बाद सभी लोग हिमाचल प्रदेश स्थित मां ज्‍वाला देवी का दर्शन करने जा रहे थे। सभी लोग मां ज्वाला देवी के दर्शन के लिये सभी बस में सवार होकर निकले। अभी वो लोग मंडी जिले में जोगेंदर नगर व मंडी के बीच पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग पर ही पहुंचे थे कि शनिवार की देर रात करीब सवा 12 बजे कोटरोपी में भूस्‍खलन हो गया। इसी दौरान उनकी बस गहरी खाई में गिर गई।

 

 

यह एक बड़ा हादसा था, जिसमें आजमगढ़ मण्डल के 15 लोगों की मौत हो गई। जिले के अतरौलिया थाना क्षेत्र के अतरैठ बाजार निवासी उमेश सोनी (23 वर्ष) पुत्र अवधेश, कन्‍हैया (18 वर्ष) पुत्र दीनदयाल, पवन (20 वर्ष) पुत्र राजेंद्र व कोयलसा निवासी दीपचंद मध्‍येसिया की मौत हो गयी।

 

वहीं हिमांचल प्रदेश के कोटरोपी में हुए इस दर्दनाक हादसे में मऊ जनपद के राणाप्रताप सिंह (35 वर्ष), मधु सिंह (30 वर्ष), वैष्णवी (13 वर्ष), तेजस्वी प्रताप (10 वर्ष), लक्ष्मी (पांच वर्ष) व सूरजदेव सिंह (40 वर्ष) सहित 11 लोग हादसे का शिकार हो गये। इन लोगों की मौत की खबर जैसे ही दोनों जिलों में हुई कोहराम मच गया। घटना के बाद परिवार के लोग हिमांचल प्रदेश के लिए रवाना हो गये हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned