नगरपालिका के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची आप

दुर्गन्ध से राहगीरों और नरौली में रहने वालो का है बुरा हाल

आजमगढ़. आबादी क्षेत्र में कचरा फेकने को लेकर आमआदमी पार्टी और नगरपालिका आमने सामने हो गयी है। बरसात में कचरे में हो रही सड़न और इससे बढ़ रहे संक्रमण के खतरे को नगरपालिका द्वारा गंभीरता से न लेेने से नाराज आप ने उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर करने का निर्णय लिया है। 


बता दें कि पिछले एक दशक से नगरपालिका के लोग शहर के बंधों पर कचरा फेक रहा है। नरौली के पास बंधा आबादी क्षेत्र में है। यहां थोड़ी दूर पर ही दीवानी न्यालयाल है। परिणाम है कि कचरे में सड़न होने से उठ रही दुर्गन्ध ने लोगों का जीन मुश्किल कर दिया है। यहां तक कि राहगीर यहां से गुजरने में परेशानी महसूस कर रहे है। 



स्थानीय लोगों ने कई बार नगरपालिका से कचरा न फेकने की गुहार लगायी। आम आदमी पार्टी द्वारा भी धरना प्रदर्शन किया गया और ज्ञापन सौंपा गया लेकिन नगरपालिका ने कचरा फेकना बंद नहीं किया। यहां तक कि कचरा फेंकने के बाद यहां आग भी लगा दी जा रही है जिससे रोडवेज तक धुआं धुआ हो जा रहा है। 




शिकायत की अनदेखी से नाराज आमआदमी पार्टी के नगर अध्यक्ष तेजबहादुर यादव ने गुरूवार की देर शाम नगर पालिका ईओ को फिर ज्ञापन सौंपा लेकिन शुक्रवार को भी कचरा वहीं फेंका गया। इससे नाराज पार्टी की जिला इकाई ने अब जनहित याचिका दायर करने का फैसला किया है। तेज बहादुर यादव ने बताया कि नरौली पुल व बाईपास रोड के पास कूड़ा फेंके जाने से पूरे शहर में दुर्गन्ध फैल रही है। इन सडकों से गुजरने वालों का दम घुटने लगा है। कई बार की शिकायत व ज्ञापन के बाद भी प्रशासन व नपा कोई हल नहीं निकल सकी। इसलिए हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल करने का निर्णय लिया गया है।
Show More
sarveshwari Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned