आजमगढ़ में गधे की पीठ पर लिख दिया एबीवीपी, वाराणसी में हार के बाद बनाया मजाक

-कलेक्ट्रेट के पास गधे की पीठ पर एबीविपी लिख कर छोड़ा

-दो दिन से कलेक्ट्रेट के आसपास घूम रहा है *****

-कार्यकर्ता बोले, विपक्षियों की साजिश कर रहे हैं ओछी हरकत

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के काशी विद्यापीठ में हुए छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी की करारी हार के बाद संगठन विपक्ष के निशाने पर है। संगठन का तरह तरह से मजाक बनाया जा रहा है। पूर्व सीएम अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में तो एक गधे की पीठ पर एबीवीपी लिखकर कलेक्ट्रेट के सामने छोड़ दिया गया है जो चर्चा का विषय बना हुआ है। वैसे एबीवीपी के लोग इसे विरोधियों की साजिश व ओछी हरकत करार दे रहे हैं।

बता दें कि हाल ही में महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में छात्रसंघ चुनाव संपन्न हुआ है। इस चुनाव में जहां सपा और कांग्रेस ने जीत का परचम फहराया वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को करारी हार झेलनी पड़ी। चुंकि संगठन को हार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में मिली है इसलिए इसकी चर्चा कुछ ज्यादा ही है। विपक्ष अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हार को भाजपा की हार से जोड़कर देख रहा है।

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ का छात्रसंघ चुनाव समाप्त होने के दो दिन बाद ही किसी ने एक गधे की पीठ पर एबीवीपी लिखकर कलेक्ट्रेट क्षेत्र में छोड़ दिया। लोगों की नजर गधे पर पड़ी तो वह चर्चा का विषय बन गया। चुंकि कलेक्ट्रेट के आसपास ही सपा और कांग्रेस का कार्यालय है इसलिए एबीवीपी के लोग इसे उक्त दलों की साजिश मान रहे हैं।

अखिल भातरीय विद्यार्थी परिषद के जिला संयोजक संदीप का कहना है कि विद्यार्थी परिषद अपने स्थापना के दिन से ही छात्र हित और राष्ट्रहित में काम करता है। विद्यार्थी परिषद अपना काम कर रहा है। गधे पर एबीवीपी लिखना विरोधियों की ओछी मानसिकता दर्शाता है। प्रशासन को ऐसे लोगों को चिन्हित कर कार्रवाई करनी चाहिए।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned