योगी सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरे अधिवक्ता, सुरक्षा के लिए की कानून बनाने की मांग

न्यायिक कार्य से विरत रह अधिवक्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन

सरकार द्वारा अधिवक्ताओं की सुरक्षा को गंभीरता से न लगने पर दी आंदोलन की चेतावनी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. अधिवक्ताओं के उत्पीड़न व उनकी सुरक्षा पर सरकार द्वारा ध्यान न देने से नाराज अधिवक्ताओं ने शनिवार को विरोध प्रदर्शन किया। अधिवक्ता न्यायिक कार्य से वितर रहते हुए जुलूस निकाल कर कलेक्ट्रेट पहुंचे। वहां शासन प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज अधिवक्ताओं की सुरक्षा के लिए कानून बनाने की मांग की।

मेरठ व महोबा में अधिवक्ताओं द्वारा आत्महत्या से अधिवक्ताओें में भारी गुस्सा दिखा। दिवानी बार से लेकर कलेक्ट्रेट बार तक के अधिवक्ता न्यायिक कार्य छोड़ पूर्वांह्न करीब 11 बजे सड़क पर उतर गए। अधिवक्ताओं ने जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। आरोप लगाया कि मेरठ और महोबा में अधिवक्ताओं का इतना उत्पीड़न किया गया कि वे आत्महत्या के लिए मजबूर हो गए। लगातार अधिवक्ताओं पर हमले हो रहे हैं। उन्हें तरह तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है।

अधिवक्ताओं की समस्याओं को लेकर सरकार और प्रशासन बिल्कुल भी गंभीर नहीं है। अधिवक्ताओं पर हमले कर रहे लोगों पर कार्रवाई तक नहीं की जा रही है। सरकार अधिवक्ताओं की सुरक्षा के लिए कानून बनाए। उत्पीड़न से परेशान होकर जिन दो अधिवक्ताओं ने आत्महत्या की है उनके परिवार वालों को मुआवजा दिया जाय तथा आत्महत्या के लिए मजबूर करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाय। अगर सरकार हमारी मांग पूरी नहीं करती है और अधिवक्ताओं की सुरक्षा के लिए ठोस कदम नहीं उठाये जाते हैं तो हम बड़ा आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned