निरहुआ को हराने के बाद अखिलेश यादव का पहला आजमगढ़ दौरा, नहीं दोहराएंगे मुलायम की गलती

निरहुआ को हराने के बाद अखिलेश यादव का पहला आजमगढ़ दौरा, नहीं दोहराएंगे मुलायम की गलती
अखिलेश यादव

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Jun, 02 2019 03:41:19 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

  • आभार जताने से नहीं चलेगा काम सांसद को इन चुनौतियों का भी करना होगा सामना।
  • जीतने के बाद जिले से भले ही दूर रहे मुलामय लेकिन आज आएंगे अखिलेश।

आजमगढ़. वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में जीत के बाद मुलायम सिंह यादव ने भले ही जिले की जनता की सुधि न ली हो लेकिन वर्ष 2019 में बड़ी जीत हासिल करने के बाद अखिलेश यादव 3 जून को आजमगढ़ यहां के लोगों का आभार जताने के लिए पहुंच रहे हैं। अखिलेश रात्रि विश्राम भी यहीं करेंगे। अखिलेश की सपा जहां यूपी हार गयी वहीं उन्होंने यहां से जितनी बड़ी जीत हासिल की उनके सामने चुनौती भी उतनी ही बड़ी है।


गौर करें तो आजमगढ़ के लोग मुलायम सिंह यादव को विकास पुरूष के रूप में देखते रहे हैं। यही वजह है कि सांसद बनने के बाद जब वे एक कार भी आजमगढ़ नहीं आए तो लोगों की नाराजगी उतनी नहीं बढ़ी जितनी क्षेत्र से दूर रहने वाले अन्य सांसदों के प्रति थी। अखिलेश ने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में आजमगढ़ में विकास के कई कार्य किये। अब वे यहां के सांसद है लेकिन ना तो केंद्र में उनकी सरकार है और ना ही प्रदेश में। रहा सवाल यहां के लोगों का तो उन्होंने अखिलेश को इसलिए बड़ी जीत दिलाई है ताकि यहां का विकास हो सके।


विपक्ष में रहते हुए मुलायम सिंह केंद्र सरकार की एक भी योजना आजमगढ़ तक नहीं ला पाए थे। अब अखिलेश को भी विपक्ष में बैठना है। ऐसे में उनके सामने भी बड़ी चुनौती होगी कि कैसे सरकार की योजनाएं यहां तक लाते हैं। योगी की नजर हमेंशा से इस जिले पर रही है। वहीं पिछले दो सालों में अखिलेश यादव के निशाने पर अगर कोई सबसे अधिक रहा है तो वे योगी है। 2022 में भी योगी के प्रमुख प्रतिद्वंदी अखिलेश ही माने जा रहे हैं ऐसे में इस बात की उम्मीद कम ही है कि यूपी सरकार भी किसी एक काम का श्रेय भी अखिलेश यादव को लेने देगी।


केवल निधि के सहारे जनता की उम्मीदों को पूरा करना अखिलेश के लिए आसान नहीं होगा। इसके अलावा अखिलेश के लिए सबसे बड़ी चुनौती है कि वे सांसद रहते हुए पार्टी की गुटबाजी को समाप्त करें। इसके लिए अखिलेश को यहां समय देना होगा जो संभव नहीं दिखता। वैसे सपाइयों का दावा है कि अखिलेश मोदी के किसी मामले में कम नहीं पड़ेगे। अब अखिलेश पिता के रास्ते पर चलेंगे या वास्तव में जो उनकी विकास की छवि है जनता के बीच रहकर उसपर खरा उतरेंगे यह तो समय बतायेगा लेकिन 3 जून को आईटीआई मैदान में होने वाले उनके कार्यक्रम को लेकर जनता उत्सुक है।

 

सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव के मुताबिक राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव तीन जून को दिन में 12 बजे हेलीकाप्टर से आएंगे और आइटीआइ मैदान में जनपदवासियों और पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। इसके बाद कोटवा स्थित सर्किट हाउस में रात्रि विश्राम करेंगे लेकिन उसके पहले शाम छह बजे बुद्धिजीवी, अधिवक्ता, साहित्यकार, व्यापारी सहित विभिन्न संगठनों के लोगों के साथ मुलाकात कर उनका मार्गदर्शन प्राप्त करेंगे। चार जून को सुबह 10 बजे हेलीकाप्टर से गाजीपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। कार्यक्रम स्थल पर पंडाल का काम लगभग पूरा हो चुका है। मंच पर एसी आदि लगाई जा रही है।

By Ran Vijay Singh

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned