योगी सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, बड़े आंदोलन की दी चेतावनी

62 की उम्र में सेवानिवृत्त करने से नाराज है कार्यकर्ता

By: Neeraj Patel

Updated: 07 Sep 2020, 02:09 PM IST

आजमगढ़. आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 62 साल की आयु में सेवानिवृत्त करने से नाराज कार्यकर्ताओं ने सोमवार को आंगनबाड़ी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के बैनर तेल कलेक्ट्रेट पर विरोध प्रदर्शन करते हुए भूख हड़ताल किया। इस दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने यूपी की योगी सरकार को महिला विरोधी करार देते हुए अनिश्चितकालीन धरने की चेतावनी दी।

प्रदेश अध्यक्ष द्रोपदी सिंह ने कहा कि सरकार अपमानजनक तरीके से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं के 62 वर्ष की उम्र होते ही उनको जबरन रिटायर कर दे रही है। जबकि उनको नाम मात्र का ही मानदेय दिया जाता है। उन्होंने मांग की कि जब तक हाथ पैर चलता रहे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से काम लिया जाता रहे। अगर नहीं लिया जा सकता है तो उनको सम्मानजनक तरीके से नियमित किया जाए, इसके बाद रिटायर कर पांच लाख रुपये का फंड व पेंशन और परिवार के किसी सदस्य को आंगनबाड़ी कार्यकर्ता या सहायक बनाया जाए।

जिलाध्यक्ष सुमित्रा सिंह ने कहा कि आज तक कितनी भी सरकारें आई गई लेकिन बुजुर्ग आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को कुछ नहीं कहा लेकिन यह सरकार 62 वर्ष का नाम देकर जबरन हटाने का कार्य कर रही है। अगर सरकार अपने इन कार्यों से पीछे नहीं हटी तो आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अनिश्चितकालीन हड़ताल पर मजबूर होंगी।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned