पूरे आजमगढ़ शहर की बिजली काटे जाने के बाद मचा हड़कम्प, व्यापारी-बिजली कर्मियों का मामला बढ़ा

पूरे आजमगढ़ शहर की बिजली काटे जाने के बाद मचा हड़कम्प, व्यापारी-बिजली कर्मियों का मामला बढ़ा

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Dec, 25 2017 10:00:11 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

आजमगढ़ में व्यापारियों और बिजल कर्मियों का विवाद बढ़ा, हड़ताल के बाद बिजली कटी तो प्रशासन ने किसी तरह समझाया।

आजमगढ़. व्यापारी और एसडीओ के विवाद का मामला सोमवार को हड़ताल तक पहुंच गया। विद्युत कर्मियों ने शाम को चार बजे पूरे जनपद की विद्युत आपूर्ति ठप कर दी। विद्युत आपूर्ति ठप होने से नगर के लोग बिजली और पानी के तरस गए। घुप्प अंधेरे में सड़कों पर चलना दूभर हो गया। बिजली की आपूर्ति ठप होने से प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। एसडीएम और सीओ सिटी मौके पर पहुंचे और आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन देकर हड़ताल को स्थगित कराया।


बताते चलें कि शुक्रवार को नगर के चौक क्षेत्र स्थित एक दूकान की बिजली काटने को लेकर व्यापारी और एसडीओ के बीच हाथापाई हो गई थी। इस घटना को लेकर दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए थे। शनिवार को बिजली कर्मचारियों ने बैठक कर आरोपी दूकानदार के खिलाफ पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने पर हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी थी। वहीं रविवार को व्यापारी संगठन भी उक्त व्यापारी के पक्ष में लामबंद हो गया। व्यापारियों ने बैठक कर विद्युत विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों पर अवैध वसूली और व्यापारियों के उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की।

 

कार्रवाई न होने पर व्यापारियों ने सड़क पर उतरने की चेतावनी भी दी। दोनों संगठनों के आमने-सामने आने से मामला तूल पकड़ लिया। उधर पुलिस द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी न करने से नाराज सोमवार की शाम चार बजे तक पूरे जनपद की बिजली आपूर्ति ठप कर विद्युत कर्मचारी हड़ताल पर चले गए। पहले तो लोगों ने इसे आम कटौती समझा लेकिन जब काफी देर तक बिजली नहीं आई तो इसका पता लगाने में जुट गए। जब बिजली की कटौती का कारण पता चला तो लोग परेशान हो उठे। जैसे ही बिजली कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने की सूचना जिला प्रशासन को हुई हड़कंप मच गया।

 

एसडीएम सदर प्रशांत कुमार और सीओ सिटी सच्चिदानंद अधिकारियों के निर्देश पर तत्काल हड़ताली कर्मचारियों के पास पहुंचे। उन्होंने हड़ताली विद्युत कर्मियों से वार्ता की और मंगलवार की शाम तक आरोपियों के गिरफ्तारी का आश्वासन देकर बिजली की आपूर्ति को बहाल कराया। विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति ने चेतावनी दी कि यदि मंगलवार की शाम छह बजे तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई वह दोबारा हड़्ताल पर चले जाएंगे।
by Ran Vijay Singh

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned