आजमगढ. की बेटी बनेगी मुलायम के आंगन की बहू

शिवपाल और अमर की नजदीकी की वजह मानी जा रही शादी

आजमगढ़. सपा मुखिया के कुनबे से अमर सिंह की नजदीकी बढ़ी तो यह चर्चा आम हुई कि शायद अमर सिंह पार्टी में वापस आने की जुगाड़ में लगे हुए हैं। अमर सिंह ने लाख सफाई दी कि वे वापसी के लिए स्वयं प्रयास नहीं करेंगे लेकिन किसी को विश्वास नहीं हुआ। अब मुलायम सिंह के छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव के पुत्र की शादी जिले में तय होने के बाद एक बार फिर चर्चा का बाजार गर्म है। कहीं इस गठबंधन के पीछे अमर सिंह तो नहीं। इसके पीछे मजबूत आधार भी है पिछले 6 महीनों के भीतर अमर सिंह व शिवपाल सिंह यादव के बीच कई मुलाकात हो चुकी है जबकि एक दौर ऐसा भी था जब शिवपाल को अमर सिंह फूटी आंख भी नहीं भाते थे। शिवपाल सिंह ने कई बार अमर सिंह पर टिप्पणी भी किया था। बहरहाल इस गठबंधन का राजनीतिक असर क्या होगा, यह तो समय बतायेगा लेकिन आजमगढ़ को दिल की धड़कन बताने वाले मुलायम सिंह अब यहां के समधी बनने की तैयारी कर रहे हैं। बता दें कि कबीना मंत्री शिवपाल सिंहय यादव के पुत्र आदित्य यादव उर्फ अंकुर पीसीएफ के चौयरमैन हैं। इनकी शादी आजमगढ़ के लालगंज क्षेत्र निवासी संजय सिंह के परिवार में तय हुई है। वैसे संजय सिंह का परिवार लखनऊ में रहता है। मुलायम सिंह यादव व संजय सिंह का परिवार शादी की तैयारियाें में जुटा हुआ है।

ताज में होगी सगाई
अंकुर यादव की सगाई की तिथि अभी तय नहीं है लेकिन सूत्रों की माने तो लखनऊ के ताज होटल में सगाई की रस्म आगामी 17 फरवरी को पूरी होने की संभावना है। इसमें अमर सिंह बतौर अतिथि शामिल हो सकते हैं। रहा सवाल शादी का तो वह तो आगामी 10 मार्च को सैफई में होगी। सगाई में कुछ चुनिंदा लोग ही शामिल होंगे, जिन्हें न्यौता भी भेजा जा चुका है। ये चुनिंदा लोग कौन हैं कन्या पक्ष के लोग भी इसका खुलासा करने के लिए अभी तैयार नहीं हैं। वैसे सपा के पूर्व नेता अमर सिंह और रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी के इसमें शामिल होने की पूरी संभावना है।

आजमगढ़ में भी ख़ुशी की लहर
आदित्य यादव की शादी लालगंज अंतर्गत सलेमपुर के प्रतिष्ठित परिवार संजय सिंह की पुत्री राजलक्ष्मी से तय होने के बाद पूरे जनपद के लोग फूले नहीं समा रहे हैं। माता कमला सिह, पत्नी शारदा, बेटे रुद्राक्ष, बेटी राजलक्ष्मी व राजेश्वरी के साथ संजय सिंह लखनऊ स्थित गोमती नगर में रहकर कंस्ट्रक्शन का काम करते हैं। सलेमपुर में खेतीबारी का काम उनके एक नजदीकी रिश्तेदार देखते हैं। संजय सिंह आजमगढ़ के एक राजनीतिक परिवार से जुड़े हुए हैं। उनके पिता स्वर्गीय सत्यनारायण सिह वर्ष 1976-82 तक कांग्रेस से एमएलसी भी रहे।
Ashish Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned