scriptआजमगढ़: अकीदत संग पढ़ी गयी ईद उल अजहा की नमाज़, प्रशासन की रही चौकसी | Azamgarh: Eid ul Azha prayers were read with devotion, administration remained vigilant | Patrika News
आजमगढ़

आजमगढ़: अकीदत संग पढ़ी गयी ईद उल अजहा की नमाज़, प्रशासन की रही चौकसी

अकीदत संग पढ़ी गयी ईद उल अजहा की नमाज़, गले लग दी एक दूसरे को मुबारकबाद, प्रशासन की रही चौकसी

आजमगढ़Jun 17, 2024 / 09:17 am

Abhishek Singh

आजमगढ़ जिला मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों में सोमवार को ईद उल अजहा बकरीद का त्योहार अकीदत संग मनाया गया। सुबह होते ही नमाजियों ने ईदगाहों व मस्जिदों में नमाज अदा कर अल्लाह तआला से अमन चैन व आपसी भाइचारा बनाए रखने की दुआ मांगी। जिले के 474 स्थानों पर नमाज को लेकर भारी सुरक्षा बंदोबस्त किए गए। इसी के साथ ही पशुओं की कुर्बानी के लिए भी स्थान चयनित किए गए थे। पुलिस व प्रशासन की ओर से सुरक्षा के सख्त प्रबंध किए गए।
आपको बता दे की सभी थानाध्यक्षों के साथ ही चौकी प्रभारी, सीओ व एसडीएम को पहले ही अलर्ट कर दिया गया था। अराजकतत्वों व अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए थे। 142 स्थानों को संवेदनशील के रूप में चिह्न्ति किया गया। मुबारकपुर के लोहरा गांव को अति संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा के लिए सब इंस्पेक्टर के साथ ही काफी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है। प्रतिबंधित पशुओं की कुर्बानी न करने के लिए पहले ही पुलिस व प्रशासन ने हिदायत दे दी थी।
आजमगढ़ शहर के बदरका ईदगाह, दलालघाट मस्जिद, जामेतुररशाद मदरसा, सिधारी ईदगाह, जीयनपुर, संजरपुर, सरायमीर, मेंहनगर, देवगांव, फूलपुर, पवई, बरदह, बिलरियागंज, महाराजगंज समेत अन्य ईदगाह व मस्जिद पर नमाज अदा करने के बाद लोगों ने एक दूसरे से गले मिलकर बकरीद की बधाई दी। बदरका ईदगाह पर एडीएम प्रशासन राहुल विश्वकर्मा, एसपी सिटी शैलेंद्र लाल, नगरपालिका ईओ रोहित यादव, शहर कोतवाली प्रभारी शशीमौली पांडेय मौजूद रहे।
वहीं जनपद के कई स्थानों पर नमाज स्थल पर मेले जैसा दृश्य था। जहां बच्चों ने खूब खरीदारी की। जनपद भर में शांति व्यवस्था बनाए रखने को लेकर प्रशासन दल बल के साथ तैनात था। नमाज अदा करने के बाद बकरों समेत बड़े जानवरों की कुर्बानी दी गई और गोश्त का बंटवारा कर खाने खिलाने का क्रम शुरू हो गया। कुर्बानी का यह पर्व तीन दिनों तक चलता है जिसमें लोग बकरे सहित अन्य जानवरों की कुर्बानी देते है। नमाजियों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रशासन द्वारा पुलिस बल की तैनाती की गई थी। ईदगाह के आसपास पुलिस की पैनी नजर थी। प्रशासन द्वारा सुरक्षा के साथ यातायात को लेकर कड़े इंतजाम किए गए थे।

Hindi News/ Azamgarh / आजमगढ़: अकीदत संग पढ़ी गयी ईद उल अजहा की नमाज़, प्रशासन की रही चौकसी

ट्रेंडिंग वीडियो