आजमगढ़ की अनवर जहां को राष्ट्रपति करेंगे सम्मानित

आजमगढ़ की अनवर जहां को राष्ट्रपति करेंगे सम्मानित
anwar jahan

राजकीय बालिका इंटर कालेज की प्रधानाचार्या हैं अनवर जहां,  अध्यापन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर शिक्षक दिवस के दिन मिलेगा सम्मान

आजमगढ़. आजमगढ़ जनपद की शान में अब एक और सितारा शिक्षक दिवस के अवसर पर जुड़ेगा। जिला मुख्यालय स्थित राजकीय बालिका इंटर कालेज की प्रधानाचार्या अनवर जहां को शिक्षक दिवस के अवसर पर देश के राष्ट्रपति द्वारा अध्यापन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर सम्मानित किया जाएगा।

अनवर जहां मूल रूप से जौनपुर शहर की रहने वाली है। इनके पति कल्बे हसन अधिवक्ता है। आजमगढ़ शहर के मध्य स्थित राजकीय बालिका इंटर कालेज की प्रधानाचार्या अनवर जहां  वर्ष 1984 से एलटी ग्रेड शिक्षक के रूप में चयनित हुईं और 1988 में लेक्चरर पद पर प्रमोट हुईं। उन्होंने कुछ समय जौनपुर जिले के राजकीय बालिका इंटर कालेज में अपनी सेवाएं दी और वर्ष 1996 में आजमगढ जिले के जीजीआईसी में अंग्रेजी प्रवक्ता के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। इस दौरान इन्हे शिक्षण के कार्य में उत्कृष्ण योगदान के लिए प्रशस्त्री पत्र भी मिला । वर्ष 2010 में इन्हें जीजीआईसी का प्रधानाचार्य का प्रभार सौंपा गया। इस दौरान इन्होने  केवल एक प्रधानाचार्य के रूप में ही नही बल्किा सरकार द्धारा चलाये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों में भी बढ़-चढ़ हिस्सा लिया। इसके लिए इन्हे वर्ष 2011 में सड़क सुरक्षा अभियान चलाने के लिए प्रशस्त्री पत्र मिला।

वर्ष 2014 में तत्कालीन संयुक्त शिक्षा निदेशक ने शिक्षण के कार्य में योगदान के लिए प्रशस्ति पत्र दिया। वर्ष 2015 में जिला विद्यालय निरीक्षक चन्द्रजीत सिंह यादव ने योग्य शिक्षिका, कुशल प्रशासनिक प्रधानाचार्या का प्रमाण पत्र दिया तो वर्ष 2016 में एनवीडी कैम्पेन चलाने के लिए जिलाधिकारी व इसी वर्ष उप जिला मजिस्ट्रेट अमृत लाल बिन्द द्धारा शिक्षण, परीक्षाओं का सुचारू रूप से सम्पन्न कराने, कुशल प्रशासनिक  प्रधानाचार्या, अपने अध्यापिकाओं के साथ कुशल व्यवहार के लिए प्रमाण पत्र भी मिला।

5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के अवसर पर अध्यापन के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने वाले शिक्षकों को देश के राष्टपति उत्तर प्रदेश  के नौ शिक्षको को सम्मानित करेगें। जिसमें आजमगढ जिले से अनवर जहां का नाम भी शामिल है। इसकी सूचना मिलने के बाद उनके परिवार, मुहल्ले और विद्यालय में खुशी का माहौल है। लोगों ने उनके घर पहुँच कर उन्हें बधाई दी। अनवर जहाँ ने बताया कि उन्हें जो भी कार्य विभाग व वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दिया जाता है उसे वह सही तरीके और समय पर संपन्न करने की पूरी कोशिश करती रही हैं। पुरस्कार को पाने श्रेय अपने परिवार, अधिकारियों, शिक्षको और शुभचिन्तको को दिया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned