बाबरी विध्वंसः फैसले के बाद हाई अलर्ट पर रही पुलिस, भाजपा ने बांटी मिठाई

मिश्रित आबादी क्षेत्र में किया गया था सुरक्षा का विशेष प्रबंध

भाजपाई बोले, सच की हमेशा होती है जीत

आजमगढ. देश की राजनीतिक की दिशा परिवर्तित कर देने वाले बाबरी विध्वंस केस में बुधवार को सीबीआइ की विशेष अदालत का बहुप्रतीक्षित फैसला आ गया। फैसला आते ही आजमगढ़ जैसे संवेदनशील जिले में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया। एसपी के निर्देश के बाद जहां हर तरफ चैकसी बढ़ा दी गयी वहीं संवेदनशील क्षेत्रों में गस्त भी बढ़ा दी गयी। वैसे फैसला आने के बाद सबकुछ सामान्य रहा। कुछ हिंदू संगठनों व भाजपा ने मिठाई जरूर बांटी।

बाबरी विध्वंस केस में सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले पर सभी की नजर थी। बुधवार को 28 का इंतजार समाप्त हुआ। सभी की नजर फैसले पर टिकी थी। कारण कि पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवानी, मुरली मनोहर जोशी, पूर्व सीएम कल्याण सिंह, उमा भारती सहित कई बड़े नेताओं के भाग्य का फैसला होना था।

फैसले के बाद विरोध अथवा जश्न की संभावना को देखते हुए जिले में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। चप्पे चप्पे पर पुलिस के जवान तैनात थे। जिन क्षेत्रों में मिश्रित आबादी थी वहां विशेष सतर्कता बरती जा रही थी। शहर से लेकर ग्रामीण इलाको तक पुलिस ने गश्त बढ़ा दी गयी है। सभी थानाध्यक्ष, चैकी इंचार्ज, पीआरवी की टीमें अपने-अपने इलाको में भ्रमण कर रही है। इसके अतिरिक्त रिर्जव पुलिस लाइन की टीमों को विभिन्न क्षेत्रों में रवाना कर दिया गया था।

फैसला आया तो लोगों ने उसे शांति से स्वीकार किया। फिर क्या था पुलिस ने भी राहत की सांस ली। वैसे भाजपा सहित कुछ हिंदू संगठनों ने पार्टी नेताओं और संतों के आरोप मुक्त होने पर मिठाई बांट कर खुशी का इजहार जरूर किया।पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि उन्होने खुद ही इलाको का भ्रमण किया है। हर स्थान पर स्थिति सामान्य है। सभी थानध्यक्षों और पीआरवी वाहन अपने-अपने क्षेत्रों मंे भ्रमण कर रही है। इसके अतिरिक्त रिर्जव पुलिस लाइन से भी फोर्स विभिन्न थाना क्षेत्रों में रवाना किया गया है।

BY Ran vijay singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned