scriptBig change in rules of paddy Purchase important for farmers | किसानों को राहत, अब पंजीकरण के लिए मोबाइल आधार से लिंक होना जरूरी नही | Patrika News

किसानों को राहत, अब पंजीकरण के लिए मोबाइल आधार से लिंक होना जरूरी नही

धान बिक्री के लिए पंजीकरण में अब सरकार ने किसानों को राहत दी है। इसमें मोबाइल का आधार से लिंक होने की अनिवार्यता समाप्त कर दी गयी है। इससे किसानों को राहत मिलने की उम्मीद है।

आजमगढ़

Published: November 08, 2021 01:53:45 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. सरकार ने किसानों को बड़ी राहत दी है अब धान खरीद के लिए किसानों का फोन नंबर आधार से लिंक होने की अनिवार्यता समाप्त कर दी गयी है। धान खरीद में तेजी लाने के लिए किसानों को यह सहूलियत दी गई है। वहीं धान की सफाई व छनाई के लिए पावर डस्टर व पावर विनोवर उपलब्ध कराने के लिए टेंडर की अनिवार्यता से भी छूट दे दी गई है।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

बता दें कि जिले में एक नवंबर से धान की खरीद शुरू हुई है लेकिन अब तक किसी केंद्र पर एक छटाक धान की खरीदारी नहीं हुई है। धान खरीद न होने में अवकाश का भी असर पड़ा है। वहीं कई केंद्रों पर अब तक पंखा आदि की व्यवस्था नहीं हुई है। कौरागहनी, पवई लाडपुर सहित कई केंद्रों पर प्रभारी अभी खरीद के लिए किसानों का नंबर ही नहीं लगा रहे हैं। किसानों को 15 नवंबर के बाद बुलाया जा रहा है। वहीं बड़ी संख्या में किसान ऐसे भी है जिनका मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं है जिसके कारण उन्हें पंजीकरण में दिक्कत आ रही थी।

अभी तक किसान वहीं नंबर पंजीकृत करवा सकते थे जो मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो ताकि आधार से उनका सत्यापन हो सके लेकिन ज्यादातर किसानों का आधार वाला नंबर बंद हो चुका है। इसके दो विकल्प उन्हें दिए गए थे कि या तो वह आधार कार्ड अपडेशन सेंटर जाकर अपना फोन नंबर अपडेट करवा लें और दूसरा यह कि वे अपना वह नंबर चालू करवा लें लेकिन जानकारी के अभाव में किसान भटक रहे थे।

किसानों की समस्या के समाधान और खरीद में तेजी लाने के लिए सरकार ने यह फैसला किया है। अब किसान अपने उस मोबाइल नंबर से भी पंजीकरण करवा सकते हैं जो आधार से लिंक नहीं है। वहीं धान की उतराई, छनाई व सफाई कर के उसकी गुणवत्ता केन्द्र सरकार द्वारा निर्धारित गुणवत्ता मानकों के तहत लाने के लिए पावर डस्टर व पावर विनोवर उपलब्ध कराने के लिए क्रय एजेंसियां किसी व्यक्ति या संस्था को नामित कर सकेंगी। अभी तक इसके लिए ई-टेंडर के माध्यम से सेवा प्रदाता का चयन करने का नियम था। सरकार के फैसले से किसानों के साथ ही विभागों को भी राहत मिली है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भाजपा की दर्जनभर सीटें पुत्र मोह-पत्नी मोह में फंसीं, पार्टी के बड़े नेताओं को सूझ नहीं रह कोई रास्ताविराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारभारतीय कार बाजार में इन फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी नई गाड़ी, सरकार ने लागू किए नए नियमUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावUP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यदिल्ली सरकार का नया आदेश, अब दो डॉक्टर द्वारा किया जायेगा कोरोना के मरीजों का इलाजबेमिसाल करियर, हैरान कर देने वाला है विराट कोहली का टेस्ट कप्तानी रिकॉर्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.