2019 लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने बनाई नई रणनीति, इन  नेताओं को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

2019 लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने बनाई नई रणनीति, इन  नेताओं को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

Sarveshwari Mishra | Publish: Sep, 03 2018 03:37:09 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

बीजेपी की यह तैयारी विपक्ष पर भारी पड़ सकती है

 

आजमगढ़. विपक्ष के महागठबंधन की आहट के बीच भाजपा ने सर्व समाज को पार्टी से जोड़ने और 2019 में लगातार दूसरी बार सत्ता हासिल करने के लिए बड़ा प्लान तैयार किया है। इसके तहत सभी समाज के प्रकोष्ठ का गठन कर उसी जाति के लोगों को प्रभारी बनाकर संगठन तैयार किया जा रहा है। बीजेपी की यह तैयारी विपक्ष पर भारी पड़ सकती है। पार्टी में जिम्मेदारी मिलने लोग उत्साहित भी दिख रहे है।

 


बता दें कि बीजेपी नेतृत्व किसी भी हालत में वर्ष 2019 का चुनाव जीत केंद्र की सत्ता दोबारा हासिल करने का प्रयास कर रही है। इसके लिए पार्टी निरंतर कार्य कर रही है। विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से जहां अब तक पीएम मोदी को अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रधानमंत्री साबित करने का प्रयास किया जा रहा है वहीं प्रकोष्ठों का गठन कर जातिगत आधार पर लोगों को अलग अलग जिम्मेदारी सौंप पार्टी से जोड़ने और सक्रिय करने का प्रयास हो रहा है।

 


हाल में बीजेपी द्वारा विभाग प्रकल्प प्रकोष्ठ का गठन किया गया है। इसमें डाक्टर भक्तवत्सल को चिकित्सा प्रकोष्ठ का प्रभारी बनाया गया है। इसी तरह प्रमोद सिंह को विधि प्रकोष्ठ, कौशलेंद्र मिश्र को बुद्धजीवी प्रकोष्ठ, मनोज खेतान को व्यवपासिय प्रकोष्ठ, गौरव अग्रवाल को आर्थिक प्रकोष्ठ, मनोज कुमार गुप्त को व्यापार प्रकोष्ठ, यशवंत सिंह को सहकारिता प्रकोष्ठ, प्रभुनाथ सिंह को पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ, हीरालाल शार्मा को सांस्कृतिक प्रकोष्ठ, हाजी इमाम अली को बुनकर प्रकोष्ठ, अनिल सिंह को शिक्षक प्रकोष्ठ, जनार्दन निषाद को मछुवारा प्रकोष्ठ, अजय सिंह को स्थानीय निकाय प्रकोष्ठ, विश्वास यादव को पंचायत प्रकोष्ठ, सुधीर रंजन अस्थाना को एनजीओ प्रकोष्ठ, फूलचंद राम को वरिष्ठ नागरिक प्रकोष्ठ तथा बलराज सिंह को लघु उद्योग प्रकोष्ठ का प्रभारी बनाया गया है।

 


इस प्रकोष्ठ के गठन का उद्देश्य सर्व समाज को पार्टी से जोड़ने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है। डा. भक्तवत्सल ने कहा कि सरकार सबका साथ सबका विकास के सिद्धांत पर आगे बढ़ रही रही है। पार्टी का प्रयास है कि सर्व समाज को पार्टी से जोड़ा जाय और सबका विकास कर मुख्यधारा से जोड़ा जाय। आम आदमी को सरकार की नीतियों पर विश्वास है यही कारण है कि लोग पार्टी से लगातार जुड़ रहे हैं।

 


वहीं राजनीति के जानकारों का कहना है कि यह बीजेपी का बड़ा दाव है। इससे उसे विपक्ष को घेरने का मौका मिलेगा। कारण कि बीजेपी को अब तक सवर्ण और व्यापारियों की पार्टी कहा जाता रहा है लेकिन अपने इस कार्य से पार्टी सभी वर्ग के लोगों को जोड़ने में सफल होती है तो निश्चत तौर पर उसे वर्ष 2019 के चुनाव में लाभ मिलेगा।

By-Ranvijay Singh

Ad Block is Banned