scriptBJP win Azamgarh using power of Akhilesh Yadav and Shivpal | सपा के गढ़ में स्वतंत्र देव ने शिवपाल व अखिलेश की ताकत का किया इस्तेमाल, कुछ इस तरह खिला कमल | Patrika News

सपा के गढ़ में स्वतंत्र देव ने शिवपाल व अखिलेश की ताकत का किया इस्तेमाल, कुछ इस तरह खिला कमल

लोकसभा उपचुनाव में आजमगढ़ संसदीय सीट पर जीत हासिल कर बीजेपी ने सपा का मजबूत किला ढ़हा दिया। सपा के किले को ढ़हाने में बीजेपी ने अपने से अधिक शिवपाल व अखिलेश की ताकत का इस्तेमाल किया। इसी का परिणाम रहा कि मामूली अंतर से ही सही लेकिन बीजेपी मुलायम सिंह के परिवार को चोट पहुंचाने में कामियाब रही। वहीं दूसरी तरफ सपा हार पर मंथन के बजाय बसपा के सिर हार का ठिकरा फोड़ रही है।

आजमगढ़

Published: June 27, 2022 02:47:51 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. लोकसभा उपचुनाव में आजमगढ़ संसदीय सीट पर बीजेपी के बाद विपक्ष में घमासान जारी है। सपा जहां बीजेपी की जीत के लिए बसपा को जिम्मेदार बता रही है तो बसपा ने भी हार का ठिकरा सपा पर फोड़ दिया है लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि अगर आजमगढ़ में सपा का किला ढहा है तो कहीं न कहीं उसके पीछे बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह की रणनीति का कमाल है। स्वतंत्रदेव ने चुनाव में सपा के किले को ढहाने के लिए अपनों से ज्यादा सपा और शिवपाल की ताकत का इस्तेमाल किया जिसका परिणाम रहा कि धर्मेंद्र यादव आठ हजार के मामूली अंतर से हार गए।

बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह
बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह

बता दें कि वर्ष 2014 से ही आजमगढ़ संसदीय सीट पर मुलायम सिंह यादव के परिवार का कब्जा था। वर्ष 2014 में मुलायम सिंह तो वर्ष 2019 में अखिलेश यादव यहां से सांसद चुने गए थे। हाल में अखिलेश यादव द्वारा सीट छोड़ने के बाद यहां उपचुनाव हुआ। चुंकि हाल में हुए विधानसभा चुनाव में सपा ने सभी दस विधानसभा सीटों पर जीत हासिल की थी इसलिए अखिलेश यादव ओवर कांफीडेंस में थे। वे पार्टी प्रत्याशी के प्रचार के लिए भी आजमगढ़ नहीं आए।

उन्हें भरोसा था कि उनके चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव आसानी से सीट जीत लेंगे। वहीं बीजेपी ने चुनाव की घोषणा से पहले ही सपा और प्रसपा में सेंधमारी शुरू कर दी। मतदान से ठीक पहले बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सपा के विशेष आमंत्रित प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रामकिशन निषाद को बीजेपी में शामिल करा दिया। रामकिशुन की निषाद समाज में गहरी पैठ है और वे कई मौको पर सपा के खेवनहार साबित हुए थे। उनके बीजेपी में शामिल होने से सपा को करारा झटका लगा।

वहीं दूसरी तरफ स्वतंत्रदेव ने सपा के पूर्व विधायक व प्रसपा के प्रदेश सचिव रामदर्शन यादव व प्रदेश प्रवक्ता तथा लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अभिषेक सिंह आंसू को भी अपने पाले में कर लिया। वर्ष 2012 व 2017 के विधानसभा चुनाव में रमादर्शन ने सपा को मुबारकपुर में हराकर यह साबित किया था कि उनके पास बड़ा जनाधार है। बीजेपी ने इस चुनाव में इनका भी खुलकर फायदा उठाया। यादव बाहुल्य बूथों पर भी बीजेपी वोट हासिल करने में सफल रही। वहीं दूसरी तरफ सपाई इन नेताओं को चूका हुआ मानकर हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। परिणाम सामने है कि बीजेपी ने धर्मेंद्र को साढ़े आठ हजार वोट से हरा दिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नाम'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीTET घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, शिंदे गुट के विधायक अब्दुल सत्तार की बेटियों के नाम आए सामने, शिवसेना ने बोला हमला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.